लगातार दूसरी बार UN महासचिव चुने गए एंतोनियो गुतारेस (Antonio Guterres), भारत ने दिया था खुला समर्थन

गुतारेस ने एक जनवरी 2017 को संयुक्त राष्ट्र के नौवें महासचिव का पदभार ग्रहण किया था और उनका पहला कार्यकाल इस वर्ष 31 दिसंबर को समाप्त हो रहा है।

0
229

संयुक्त राष्ट्र: संयुक्त राष्ट्र महासभा ने शुक्रवार को पुर्तगाल के पूर्व प्रधानमंत्री रहे एंतोनियो गुतारेस को फिर से महासचिव नियुक्त किया है। उनका दूसरा कार्यकाल एक जनवरी 2022 से शुरू होगा। इससे पहले शक्तिशाली संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने 193 सदस्यीय इस संस्था के लिए गुतारेस के फिर से निर्वाचन की सर्वसम्मति से सिफारिश की थी। बता दें कि यूएनएससी में अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस और ब्रिटेन शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर ने घोषणा करते हुए बताया कि एंतोनियो गुतारेस को फिर से संयुक्त राष्ट्र का महासचिव नियुक्त किया जाता है। उनका दूसरा कार्यकाल एक जनवरी 2022 से आरंभ होगा और 31 दिसंबर 2026 को समाप्त होगा। बोजकिर ने 72 वर्षीय गुतारेस को संरा महासभा के हॉल में मंच पर शपथ दिलवाई।

इससे पहले, आठ जून को 15 सदस्यीय परिषद की बैठक में महासचिव के पद के लिए सर्वसम्मति से गुतारेस के नाम की सिफारिश वाले प्रस्ताव को अपनाया गया था। यह बैठक बंद कमरे में आयोजित की गई थी, जिसमें यूएनएससी के स्थायी और असस्थायी सदस्य शामिल थे। भारत ने भी एंतोनियो गुतारेस के दूसरे कार्यकाल के लिए अपना समर्थन दिया था। पिछले महीने के अंत में भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर ने एंतोनियो गुतारेस से न्यूयॉर्क में मुलाकात की थी। इस बैठक के बाद जयशंकर ने ट्वीट कर कहा था कि इस चुनौतीपूर्ण समय में संयुक्त राष्ट्र के यूएनएसजी के नेतृत्व को भारत महत्व देता है। भारत दूसरे कार्यकाल के लिए उनकी उम्मीदवारी का समर्थन करता है।

गुतारेस ने एक जनवरी 2017 को संयुक्त राष्ट्र के नौवें महासचिव का पदभार ग्रहण किया था और उनका पहला कार्यकाल इस वर्ष 31 दिसंबर को समाप्त हो रहा है। अगले महासचिव का कार्यकाल एक जनवरी 2022 से शुरू होगा। पुर्तगाल के पूर्व प्रधानमंत्री गुतारेस ने इससे पहले संयुक्त् राष्ट्र शरणार्थी उच्चायुक्त के तौर पर जून 2005 से दिसंबर 2015 तक अपनी सेवा दी थी।