वीआरएस योजना के तहत MTNL के 13,532 और BSNL के 77000 कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया

एमटीएनएल को पिछले 10 में से 9 साल घाटा हुआ है। वहीं बीएसएनएल भी 2010 से घाटे में है। दोनों कंपनियों 40,000 करोड़ रुपये का कर्ज है।

0
66

नयी दिल्ली: सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी महानगर टेलीफोन निगम लि. यानि एमटीएनएल की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) के लिए करीब 13,500 कर्मचारियों ने आवेदन किया है। कंपनी ने हाल ही में वीआरएस योजना की घोषणा की थी और इसी घोषणा के आने के बाद एमटीएन के कर्मचारियों ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है। इससे पहले भारत संचार निगम लि. (बीएसएनएल) की वीआरएस योजना की घोषणा के बाद कर्मचारियों की अच्छी प्रतिक्रिया मिली थी।

शुरू में एमटीएनएल का अनुमान था कि बीआरएस योजना के तरह साढ़े 13 हजार कर्मचारी ही इस योजना का विकल्प चुनेंगे। लेकिन अब तक 13,532 कर्मचारी वीआरएस के लिए आवेदन कर चुके हैं और आवेदन का सिलसिला लगातार चल रहा है जबकि अभी इस योजना को बंद होने में करीब दो सप्ताह का वक्त बचा है। एमटीएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक सुनील कुमार ने बुधवार को कहा, ‘‘वीआरएस के लिए काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। अब तक 13,532 कर्मचारी इसके लिए आवेदन कर चुके हैं। हमारा आंतरिक लक्ष्य 13,500 का था।’’

सुनील कुमार ने भरोसा दिलाया कि इस योजना में जितना संभव होगा उतने कर्मचारियों को शामिल करने का प्रयास किया जाएगा। साथ ही साथ उन्होंने कहा, ‘‘वीआरएस के लिए आवेदन की तारीख समाप्त होने से पहले 14,500 से 15,000 कर्मचारी इसके लिए आवेदन करेंगे।’’ उन्होंने बताया कि कुल मिलाकर कंपनी के 16,300 कर्मचारी इसके पात्र हैं। वहीं दूसरी तरफ इस स्कीम ते तहत बीएसएनएल के 77,000 कर्मचारियों वीआरएस योजना के तहत अबतक आवेदन कर चुके हैं। आपको बता दें कि एमटीएनएल को पिछले 10 में से 9 साल घाटा हुआ है। वहीं बीएसएनएल भी 2010 से घाटे में है। दोनों कंपनियों 40,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। इसमें से आधा अकेले एमटीएनएल पर है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here