चिराग पासवान ने JDU पर लगाया पार्टी तोड़ने का आरोप, चाचा को लेकर भी दिया बड़ा बयान…

चिराग पासवान ने कहा कि ''बिहार चुनाव के दौरान, उससे पहले भी, उसके बाद भी कुछ लोगों द्वारा और खास तौर पर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) द्वारा हमारी पार्टी को तोड़ने का प्रयास निरंतर किया जा रहा था।

0
203
Photo: ANI

नई दिल्ली: पार्टी में बड़ी टूट के बाद आखिरकार पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान मीडिया के सामने आये और पार्टी के मुद्दे पर एक एक बात सामने रखी। अभी पार्टी में जो भी गतिविधियां चल रही है उसको लेकर अपना पक्ष रखा। लेकिन इसी बीच चिराग पासवान ने पार्टी की टूट की सबसे बड़ी वजह नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड को बताया। उन्होंने साफ कहा कि जेडीयू की तरफ से लगातार पार्टी को तोड़ने का प्रयास किया जा रहा था।

चिराग पासवान ने कहा कि ”बिहार चुनाव के दौरान, उससे पहले भी, उसके बाद भी कुछ लोगों द्वारा और खास तौर पर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) द्वारा हमारी पार्टी को तोड़ने का प्रयास निरंतर किया जा रहा था। मेरी पार्टी के पूरे समर्थन के साथ मैने चुनाव लड़ा। कुछ लोग संघर्ष के रास्ते पर चलने के लिए तैयार नहीं थे। मेरे चाचा ने खुद चुनाव प्रचार में कोई भूमिका नहीं निभाई। मेरी पार्टी के कई और सांसद अपने व्यक्तिगत चुनाव में व्यस्त थे।”

एलजेपी नेता चिराग पासवान ने कहा कि ”यह सब तब हुआ जब मैं बीमार था। मैंने उस समय अपने चाचा से बात करने की भी कोशिश की लेकिन मैं असफल रहा।” उन्होंने कहा कि ”सदन के नेता की नियुक्ति संसदीय समिति का फैसला है, न कि मौजूदा सांसद। ऐसी खबरें आई हैं कि मुझे पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटा दिया गया है। पार्टी के संविधान के अनुसार, राष्ट्रीय अध्यक्ष को केवल तभी हटाया जा सकता है जब उसकी मृत्यु हो जाती है या इस्तीफा देता है।”