बेतिया में कोरोना विस्फोट, बैरिया में कोरोना संक्रमण में उछाल से मचा हड़कंप, लगातार बढ़ रही है संक्रमितों की संख्या…

कोरोना की दूसरी लहर में लोग सहमें हुए हैं लेकिन लापरवाही बदस्तूर जारी है। अभी भी इन क्षेत्रों में महज 20 से 30 फीसदी लोग ही मास्क का उपयोग कर रहे।

0
232

बेतिया: बिहार में भी कोरोना के हालात बेकाबू होते नज़र आ रहे हैं। इसका उदाहरण इसी बात से मिलता है कि बेतिया जिले में एक दिन में 45 से ज्यादा लोगों का कोरोना के चपेट में आना। यहां भी कोरोना का संक्रमण काफी तेज़ हो गया है। बीते दिन यहां 45 मरीजों की पुष्टि हुई है जो कोरोना से संक्रमित पाये गए। इस ताजा आंकड़ें के बाद जिले में पिछले एक सप्ताह में मरीजों की संख्या में तीन गुना इज़ाफा देखा गया। वहीं मंगलवार को एएनएम और स्वास्थ्यकर्मी की संक्रमित होने की वजह से एक जगह पर वैक्सिनेशन का काम भी नहीं हो सकता।

मिली जानकारी के मुताबिक पीएचसी में मात्र 30 लोगों को टीका दिया जा सका। एंटीजन रैपिड टेस्ट मे 75 लोगो की जांच हुई। जिसमे 14 संक्रमित मरीज मिले। वही 75 लोगों का आरटी-पीसीआर का सैंपल लिया गया। प्रभारी हेल्थ मैनेजर अमित प्रकाश ने बताया कि आरटीपीसीआर के आये रिपोर्ट में 31 लोग पॉजिटिव पाये गये है। वही एंटीजन रैपिड टेस्ट मे 14 लोग पॉजिटिव मिले हैं। कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ रही है। हालांकि टेस्टिंग भी तेज कर दिया गया है। लेकिन जब अब स्वास्थ्कर्मी ही इसकी चपेट में आ रहे हैं तो वैक्सिनेशन की गति धीमी पड़ गई है। अब प्रखंड में संक्रमित मरीजों की संख्या 200 के पार हो गई है। सभी मरीजों को फिलहाल होम आइसोलेशन में रखा गया है।

कोरोना की दूसरी लहर में लोग सहमें हुए हैं लेकिन लापरवाही बदस्तूर जारी है। अभी भी इन क्षेत्रों में महज 20 से 30 फीसदी लोग ही मास्क का उपयोग कर रहे। वही ग्रमीण इलाकों के हाट बाजारों में सोशल डिस्टेंसिग का भी अनुपालन नहीं हो रहा है। जिससे लगातार संक्रमित मरीजो की संख्या बढती जा रही है। अगर कोरोना संक्रमण का चेन नहीं तोड़ा गया तो हालात बद से बदतर हो सकते हैं।