14 जनवरी तक सभी केन्द्रों तक पहुंच जाएगी कोरोना वैक्सीन, जानें क्या होगी वैक्सीन लगवाने की प्रक्रिया

टीकाकरण का फर्स्ट फेज़ 16 जनवरी से शुरू होने वाला है और इसमें सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा, तो ऐसे में उन्हें रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता नहीं होगी।

0
153

नई दिल्ली: जहां एक तरफ देश में कोरोना की रफ्तार कम हो रही है तो वहीं केन्द्र सरकार अब हर जगह पर वैक्सीन पहुंचाने में जुटी है। केन्द्र ने पहले ही ये एलान कर दिया है कि 16 जनवरी से देशभर में टीकाकरण का काम शुरु कर दिया जाएगा और इसके लिए 14 जनवरी तक सभी टीकाकरण केन्द्रों तक वैक्सीन पहुंचा दिया जाएगा। अब तक देशभर के 13 शहरों के कई वैक्सीन सेन्टर्स पर करीब 54 लाख 72 हजार वैक्सीन की खुराक पहुंचा दिया गया है और ये लगातार जारी है और ये अभियान कल यानि 14 जनवरी तक चलेगा। वहीं दूसरी तरफ ड्राय रन के दौरान ही राज्य सरकारों नें टीकाकरण को लेकर अपनी तैयारियां पुख्ता कर ली है।

जो जानकारी अब तक मुहैया कराई गई है, उसके मुताबिक कोविशिल्ड के कुल 1.1 करोड़ और भारत बायोटेक के कोवाक्सिन के 55 लाख खुराक कल यानि 14 जनवरी तक सभी केन्द्रों तक मुहैया करा दिये जाएंगे। टीकाकरण के पहले चरण में 3 करोड़ फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण होगा। ये वो फ्रंटलाइन वर्कर्स होंगे जिन्होंने कोरोना महामारी के दौरान अस्पताल या अलग अलग जगहों पर अपनी सेवाएं दी हैं। जैसा कि पहले ही केन्द्र सरकार ने घोषणा किया है कि टीकाकरण का सारा खर्च केन्द्र सरकार उठाएगी।

कहां-कहां पहुंची है वैक्सीन की खेप:

अब तक जिन शहरों में टीके की खेप पहुंच चुकी है उनमें दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता, गुवाहाटी, शिलांग, अहमदाबाद, हैदराबाद, विजयवाड़ा, भुवनेश्वर, पटना, रांची, बेंगलुरु, लखनऊ, चंडीगढ़ और मुंबई शामिल है।आज सुबह हैदराबाद से दिल्ली वैक्सीन की पहली खेप पहुंची। वैक्सीन को काफी सतर्कता बरतते हुए वैक्सीन सेंटर पहुंचाए जा रहे हैं।

करनाल, कोलकाता, चेन्नई और मुंबई में चार सामान्य मेडिकल स्टोर विभाग हैं। सभी राज्यों में कम से कम एक राज्य-स्तरीय क्षेत्रीय वैक्सीन स्टोर है। जिन राज्यों में एक से अधिक राज्य स्तरीय क्षेत्रीय वैक्सीन स्टोर हैं उनमें उत्तर प्रदेश (9), मध्य प्रदेश (4), गुजरात (4), केरल (3), जम्मू-कश्मीर (2), कर्नाटक (2) और राजस्थान (2) शामिल हैं।

क्या होगी वैक्सीन की कीमत?

आपको बता दें कि सरकार ऑक्सफोर्ड वैक्सीन की 1.1 करोड़ खुराकें खरीद रही है। इसे भारत में कोविशिल्ड के नाम से उतारा गया है। ये वैक्सीन पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाया गया है। हर खुराक पर जीएसटी सहित 210 रुपए की लागत आई जिसपर पहले ऑर्डर में 231 करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ भारत बायोटेक द्वारा बनाई गई कोवाक्सिन की 55 लाख खुराकें भी केंद्र खरीद रहा है। कंपनी साढ़े 16 लाख खुराकें सरकार को मुफ्त में दे रही है। इसके बाद बचे 38.5 लाख वैक्सीन 295 रुपए की दर से सरकार खरीद रही है। 

क्या होगी टीकाकरण के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया?

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि टीकाकरण का फर्स्ट फेज़ 16 जनवरी से शुरू होने वाला है और इसमें सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मचारियों का टीकाकरण किया जाएगा, तो ऐसे में उन्हें रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता नहीं होगी। हालांकि Co-WIN ऐप (cowin.gov.in) की वेबसाइट लाइव हो गई है और इसके जरिये बांकि के लोग अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here