कई बड़ी कंपनियों को पछाड़ IPL 2020 के लिए Dream 11 बना टाइटल स्पॉन्सर, Vivo के हटने के बाद कई कंपनियां थी दौड़ में

अगर वीवो इंडिया- जो दो सप्ताह पहले ही आईपीएल से अलग हुआ है वापस आता है तो ड्रीम11 को उसके लिए रास्ता छोड़ना पड़ेगा। हालांकि अगर वीवो टाइटल स्पॉन्सर के तौर पर नहीं लौटेगा तो तो स्पोर्ट्स स्टार्ट अप के पास 2020 के आईपीएल के अलावा अगले दो साल के लिए भी अधिकार कायम रहेंगे।

0
225
मुंबई: सारी बड़ी कंपनियों को पीछे छोड़ते हुए आखिरकार ड्रीम11 ने तीन साल के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के टाइटल राइट्स खरीद लिए हैं। हालांकि यहां देखने वाली बात ये भी है कि बाकी दो साल के लिए स्पोर्ट्स फैंटसी प्लैटफॉर्म के पास अधिकार रहते हैं या नहीं ये इस बात पर निर्भर करेगा कि वीवो अगले साल लौटता है या नहीं। अगर वीवो वापस लौटता है तो शायद फिर से आईपीएल की टाइटल उनके पास जा सकता है।

अगर वीवो इंडिया- जो दो सप्ताह पहले ही आईपीएल से अलग हुआ है वापस आता है तो ड्रीम11 को उसके लिए रास्ता छोड़ना पड़ेगा। हालांकि अगर वीवो टाइटल स्पॉन्सर के तौर पर नहीं लौटेगा तो तो स्पोर्ट्स स्टार्ट अप के पास 2020 के आईपीएल के अलावा अगले दो साल के लिए भी अधिकार कायम रहेंगे। दरअसल टाइटल के लिए ड्रीम 11 ने पहले साल के लिए 222 करोड़, दूसरे साल के लिए 240 करोड़ और तीसरे साल के लिए भी यही 240 करोड़ की ही बोली लगाई है। सबको अगर मिला कर देखा जाय तो औसत बोली 234 करोड़ की रही है।
हालांकि आईपीएल की टाइटल स्पॉन्सर्शिप की दौर में टाटा संस, जियो औप पंतजलि जैसी कई कंपनिया थी, लेकिन इसमें बाजी ड्रीम 11 के हाथ लगी है। लेकिन अभी ये पता नहीं चल पाया है कि टाटा संस ने बोली लगाई है या नहीं। अगर बोली लगाई है तो कितने की लगाई है और साथ ही साथ बांकि कंपनियों ने कितनी की बोली लगाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here