अमित शाह ने मानी झारखंड में बीजेपी की हार, ट्वीट कर 5 साल मौका देने के लिए धन्यवाद दिया

2014 लोकसभा चुनाव के बाद से जिस तरह से केन्द्र में और कई राज्यों में बीजेपी की जीत हुई, उसके बाद से उन्हें बीजेपी का चाणक्य कहा जाने लगा। लेकिन हैरानी की बात ये है कि 2019 में एकबार फिर भारी बहुमत से केन्द्र में बीजेपी की सरकार बनने के बाद भी बीजेपी के हाथ से कई राज्य निकल गए।

0
75
File Photo

नई दिल्ली: झारखंड में बीजेपी के पक्ष में नतीजे ना आने के बाद गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने हार स्वीकारते हुए झारखंड की जनता को 5 साल सेवा का मौका देने के लिए धन्यवाद दिया है। झारखंड विधानसभा चुनाव में बीजेपी को झारखंड मुक्ति मोर्चा, कांग्रेस और आरजेडी गठबंधन से हार का सामना करना पड़ा है। इन चुनाव नतीजों के बाद झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने भी हार स्वीकारते हुए इसे खुद की हार बताया है।

गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा है, “‘हम झारखंड की जनता द्वारा दिए गए जनादेश का सम्मान करते हैं। बीजेपी को 5 वर्षों तक प्रदेश की सेवा करने का जो मौका दिया था उसके लिए हम जनता का हृदय से आभार व्यक्त करते हैं। बीजेपी निरंतर प्रदेश के विकास के लिए कटिबद्ध रहेगी। सभी कार्यकर्ताओं का उनके अथक परिश्रम के लिए अभिनंदन।”

आपको बता दें कि खुद गृहमंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई चुनावी सभाओं को संबोधित किया है। लेकिन उसके बाद भी यहां बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है। 2014 लोकसभा चुनाव के बाद से जिस तरह से केन्द्र में और कई राज्यों में बीजेपी की जीत हुई, उसके बाद से उन्हें बीजेपी का चाणक्य कहा जाने लगा। लेकिन हैरानी की बात ये है कि 2019 में एकबार फिर भारी बहुमत से केन्द्र में बीजेपी की सरकार बनने के बाद भी बीजेपी के हाथ से कई राज्य निकल गए।

राजनीतिक जानकारों की मानें तो जब से अमित शाह ने मोदी कैबिनेट में गृह मंत्री की कुर्सी संभाली है तब से वो पार्टी की गतिविधियों में ध्यान नहीं दे पा रहे हैं। 2019 के चुनाव तक वो पार्टी दफ्तर में बैठ तक बूथ लेवल तक की रणनीति तैयार करते थे और सारा चुनाव अपनी देखरेख में करवाते थे, लेकिन गृहमंत्रालय का अहम जिम्मा संभालने के बाद अमित शाह पार्टी पर उतना ध्यान नहीं दे पाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here