Bihar: बेतिया के गैस गोदाम में लगी भीषण आग, सिलेंडर से लदे ट्रक का परखच्चा उड़ा, जान-माल की हानि की ख़बर नहीं…

धिका ज्योति एचपी गैस गोदाम शहर से हट कर संत घाट में है इसलिए लोगों को ज्यादा नुकसान पहुंचने की संभावना नहीं थी वरना अगर से शहर के बीच होता तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि ये हादसा कितना बड़ा होता।

0
193

बेतिया: शहर में एक गैस गोदाम में भीषण आग लग गई जिसमें 50 से ज्यादा सिलेंडरों में विस्फोट हुआ तो वही दूसरी ओर सिलेंडर से लदी ट्रक में भी विस्फोट हुआ जिसमें ट्रक के परखच्चे उड़ गए। आग की लपटे इतनी तेज की लोग दूर से ही उसे आसानी से देख पा रहे थे। खतरे की बात तो ये रही कि बीच बीच में सिलेंडर के विस्फोट होने के बाद आग की उठती तेज लपटों को लोग दूर से देख पा रहे थे। घटना की जानकारी मिलते ही दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंच गई और आग बुझाने के काम में जुट गई। इस बीच संतोषप्रद बात यही रही कि इस हादसे में किसी की जान नहीं गई।

इस हादसे के बाद आसपास के लोगों में दहशत का माहौल बन गया और लोग अपने घरों से निकल कर भागने लगा। हालांकि ये राधिका ज्योति एचपी गैस गोदाम शहर से हट कर संत घाट में है इसलिए लोगों को ज्यादा नुकसान पहुंचने की संभावना नहीं थी वरना अगर से शहर के बीच होता तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि ये हादसा कितना बड़ा होता। गैस गोदाम में जब धमाका हुआ तो लोग वहां जमा होने लगे लेकिन सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन के लो घटनास्थल पर पहुंचे और भीड़ को कंट्रोल करने लगे और घोषणा करने लगे की घटनास्थल पर भीड़ ना लगाए और मौके से वापस चले जाये। वहीं मौके पर पहुंचे जिला पदाधिकारी कुंदन कुमार के मुताबिक घटना की सूचना मिलते ही दमकल की टीम मौके पर पहुंच कर आग बुझाने के काम पर लग गई थी।

गैस एजेंसी के मालिक नंदकिशोर चौधरी के मुताबिक इस हादसे में करीब 50 से ज्यादा सिलेंडरों में विस्फोट हुआ है और सिलेंडर से लदी एक ट्रक को भी नुकसान पहुंचा है। इस धमाके में ट्रक के भी परखच्चे उड़ गए हैं।

फिलहाल आग से कितना नुकसान पहुंचा है इसका आंकलन अभी नहीं लगाया गया है। अब प्रशासन ये पता करने में लगी हुई है कि गैस गोदाम में सुरक्षा का इतना ध्यान रखा जाता है, लेकिन इसके बाद भी यहां इतना बड़ा हादसा कैसे हो गया? अब ये जांच का विषय है कि क्या गैस एजेंसी की तरफ से लापरवाही की गई थी या किसी ने जानबूझ कर इस घटना को अंजाम दिया था या फिर ये महज़ एक हादसा था?