कल्कि महाराज उर्फ विजय कुमार पर मुकदमा दर्ज, दक्षिण भारत के कई नामी गिरामी लोगों से भी हो सकती है पूछताछ

छापेमारी के दौरान पहले दिन मात्र 4 करोड़ रुपये बरामद हुए थे। आरोप है कि इसके बाद कल्कि और उनके सहयोगियों ने आयकर अधिकारियों के काम मे रूकावट भी डाली। आय़कर चोरी के साथ ही कल्कि महाराज पर अब आपराधिक केस में भी फंस गए हैं।

0
400

नई दिल्ली: खुद को कलयुग का अवतार बताने वाले कल्कि महाराज उर्फ विजय कुमार के खिलाफ आयकर विभाग ने मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही आयकर विभाग बेनामी संपत्ति और ब्लैक मनी एक्ट के तहत भी मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही है। ये मामला सिर्फ कल्कि महाराज के खिलाफ ही नहीं बल्कि उनके सहयोगियों के खिलाफ भी दर्ज किया जाएगा। छापेमारी के दौरान आयकर विभाग को कल्कि महाराज के घर से भारी मात्रा में नगद, जेवरात और जायदादों के दस्तावेज भी मिले हैं। कल्कि महाराज के पास से कई देशों की करेंसी सहित 2000 और 10 रुपये तक के नोट बरामद हुए हैं।

आयकर विभाग के मुताबिक आयकर विभाग ने एक सूचना के आधार पर कल्कि महाराज के आश्रम पर इस बड़ी कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। आयकर विभाग को ये यूचना मिली थी कि कल्कि महाराज के आश्रम में लाखों रुपये की टैक्स चोरी हो रही है। इसी सूचना के आधार पर आयकर विभाग ने कल्कि महाराज के करीब 40 से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी की। इस छापेमारी के दौरान पता चला था कि डोनेशन की राशि को काफी कम दिखाया जा रहा है औऱ इसी रकम से बड़े पैमाने पर जमीन जायदाद की खरीद फरोख्त भी की जा रही थी।

छापेमारी के दौरान पहले दिन मात्र 4 करोड़ रुपये बरामद हुए थे। आरोप है कि इसके बाद कल्कि और उनके सहयोगियों ने आयकर अधिकारियों के काम मे रूकावट भी डाली। आय़कर चोरी के साथ ही कल्कि महाराज पर अब आपराधिक केस में भी फंस गए हैं। सूत्रों के मुताबिक छापेमारी के पहले दिन मात्र चार करोड़ रुपये बरामद हुए थे इसके बाद आरोप है कि कल्कि और उनके सहयोगियों ने आयकर अधिकारियों से दुव्यर्वहार किया जिसके चलते अधिकारियों ने उनके खिलाफ विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया है।

आयकर सूत्रों के मुताबिक अब तक की जांच के दौरान ऐसे अहम सबूत मिले हैं जिनके आधार पर कल्कि और उनके सहयोगियों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे के अलावा बैनामी संपत्ति और काले धन का मामला भी बन सकता है। अब इसके खिलाफ मामला दर्ज करने की तैयारी भी आयकर विभाग कर रहा है। कल्कि महाराज के ठिकानों से बरामद दस्तावेजों की सघऩ जांच चल रही है। उसके बाद अन्य मुकदमों के साथ-साथ ईडी भी कल्कि और उनके सहयोगियो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर सकता है। इस मामले मे दक्षिण भारत की अनेक अहम और प्रसिद्द हस्तियां भी फंस गई है। आयकर विभाग जल्द ही इस मामले में कल्कि उनके बेटे कृष्णा और सीईओ लोकेश दामाजी को पूछताछ के लिए बुलाने जा रहा है।