कोरोना वाइरस से चीन में हलकान, अबतक कम से कम 170 लोगों की मौत, उतारी सेना

इस वायरस का कहर करीब 17 देशों में फैल गया है। इस बीच दुनियाभर के कई देशों ने चीन के अलग अलग शहरों के लिए उड़ाने रद्द कर दी है। चीन में इस वायरस से छह विदेशी भी संक्रमित हुए हैं।

0
152

नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस का कहर इस कदर बढ़ता जा रहा है कि मरने वाले लोगों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इसकी वजह से चीन में अबतक कम से कम 170 लोगों की मौत हो गई है। गुरुवार को चीनी सरकार ने कहा कि कोरोना वायरस से हुबेई प्रांत में 37 लोगों के मौत की ख़बर सामने आई है। कोरोना वायरस से सबसे अधिक हुबेई में अबतक 1032 मामले में सामने आए हैं। पूरे चीन में अबतक 6000 लोगों के कोरोना वाइरस के चपेट में आने की पुष्टि की गई है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक ये वायरस अगले 10 दिनों में चरम पर पहुंच जाएगा, जिसकी वजह से मौत के आंकड़ों में बढ़ोतरी हो सकती है। 

आपको बता दें कि कोरोना वायरस विषाणुओं का एक बड़ा समूह है लेकिन इनमें से केवल छह विषाणु ही लोगों को संक्रमित करते हैं। इसके सामान्य प्रभावों के चलते सर्दी-जुकाम होता है लेकिन ‘सिवीयर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (सार्स)’ ऐसा कोरोना वायरस है जिसके प्रकोप से इससे पहले भी 2002-03 में चीन और हांगकांग में करीब 650 लोगों की मौत हो गई थी। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने कोरोना वायरस के प्रकोप को रोकने की मुश्किल जिम्मेदारी सेना को उठाने का बुधवार को आदेश दिया है। फिलहाल इस वायरस का कहर करीब 17 देशों में फैल गया है। इस बीच दुनियाभर के कई देशों ने चीन के अलग अलग शहरों के लिए उड़ाने रद्द कर दी है। कई वैश्विक एयरलाइनों ने चीन के विभिन्न शहरों के लिए अपनी उड़ानें रद्द कर दी हैं। चीन में इस वायरस से छह विदेशी भी संक्रमित हुए हैं।

एअर इंडिया, बिटिश एयरवेज, लुफ्थांसा, लॉयन एयर और इंडिगो एयरलाइन ने बुधवार को चीनी शहरों के लिए अपनी उड़ानें रद्द कर दी। नयी दिल्ली में एअर इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि राष्ट्रीय एयरलाइन दिल्ली से शंघाई मार्ग पर अपनी उड़ानें 31 जनवरी से 14 फरवरी तक रद्द कर रही है। इंडिगो ने भी चीन के विभिन्न शहरों के लिए अपनी उड़ानें रद्द करने की घोषणा की है। आपको बता दें कि कोरोना वायरस का मामला पिछले साल दिसंबर में सबसे पहले वुहान में सामने आया था।