गृह मंत्री अमित शाह की दो टूक, कहा – हम शरणार्थियों को नागरिकता देकर रहेंगे

गृहमंत्री अमित शाह ने दावा किया है कि मोदी सरकार किसी के खिलाफ अन्याय नहीं करती है और छात्रों और युवाओं को अगर नागरिकता संशोधन कानून में किसी के खिलाफ कोई अन्याय जैसी बात दिखती है तो वो सरकार को बता सकते हैं।

0
121

नई दिल्ली: पूरे देश में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जिस तरह से हंगामा बरपा है उसे देखते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने साफ कर दिया है कि ये कानून अब वापस नहीं लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने ये साफ कर दिया है कि मोदी सरकार इन शरणार्थियों को नागरिकता देकर रहेगी। अमित शाह ने देशभर में विरोध कर रहे छात्रों और युवाओं से कानून के बारे में पूरी जानकारी लेने की अपील की है। अमित शाह ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के बारे में छात्रों को सही जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि सरकार की वेबसाइट पर इस कानून को बिस्तार से पढ़ा जा सकता है।

गृहमंत्री अमित शाह ने दावा किया है कि मोदी सरकार किसी के खिलाफ अन्याय नहीं करती है और छात्रों और युवाओं को अगर नागरिकता संशोधन कानून में किसी के खिलाफ कोई अन्याय जैसी बात दिखती है तो वो सरकार को बता सकते हैं। अमित शाह ने ये सभी बातें दिल्ली के द्वारका में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। इस दौरान अमित शाह ने ये साफ कर दिया कि विरोध के बावजूद सरकार इस कानून को वापस नहीं लेगी और तीन देशों से आए शरणार्थियों को नागरिकता देकर रहेगी। वहीं गृह मंत्री ने कांग्रेस और बाकी विपक्षी दलों पर पलटवार करते हुए कहा कि वो लोगों के दिमाग में भ्रम फैला रहे हैं, जिसकी वजह से इतना हंगामा हो रहा है। उन्होंने दोहराया कि नागरिकता कानून किसी की नागरिकता लेने नहीं बल्कि नागरिकता देने के लिए बनाया गया है। उन्होंने छात्रों और युवाओं से इन राजनीतिक दलों के बहकावे में नहीं आने की अपील की।