महाराष्ट्र की राजनीति में नया मोड़, बीजेपी ने सरकार बनाने के इंकार किया, नंबर ना होने का हवाला दिया

मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, विनोद तावड़े, पंकजा मुंडे और सुधिर मुंगटीवार ने राजभवन जाकर बीजेपी के फैसले से राज्यपाल को अवगत कराया।

0
79
Photo: ANI

मुंबई: महाराष्ट्र की राजनीति में अब एक नया मोड़ आ गया है। बीजेपी ने यहां सरकार बनाने से इंकार कर दिया है। बीजेपी ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलकर संख्या ना होने का हवाला देते हुए मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बदले विपक्ष में बैठने की मंशा जता दी है। राज्यपाल से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि हम बहुमत जुटाने में असफल रहे। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, विनोद तावड़े, पंकजा मुंडे और सुधिर मुंगटीवार ने राजभवन जाकर बीजेपी के फैसले से राज्यपाल को अवगत कराया।

शिवसेना पर निशाना साधते हुए चंद्रकांत पाटिल ने कहा, “जनादेश होने के बाद भी शिवसेना ने साथ में सरकार बनाने की अनिच्छा जाहिर की। ऐसे में हम सरकार नहीं बनाएंगे। यही राज्यपाल को बताने आये थे। शिवसेना यदि जनादेश का अपमान करके कांग्रेस और एनसीपी के साथ सरकार बनाना चाहती है को उन्हें बधाई।” महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने शनिवार को ही महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा सीट जीतने वाली बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया था। लेकिन कई दौरा की बैठकों के बाद आखिरकार बीजेपी ने फैसला किया कि चुकि उनके पास नंबर नहीं है तो वो सरकार नहीं बना सकते।

21 अक्टूबर को हुए मतदान में बीजेपी ने 105 सीटें जीती थी। 288 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा में बहुमत के लिए 145 सीटों की जरुरत है। जबकि बीजेपी की सहयोगी रही शिवसेना ने 56 सीटें जीती थी, लेकिन आदित्य ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाने की मांग के चलते 50-50 फॉर्मूले को लेकर दोनों पार्टियों के बीच खींचतान चल रही थी और जब 9 नवंबर को महाराष्ट्र विधानसभा का कार्यकाल खत्म हो गया तो राज्यपाल ने बीजेपी को सरकार बनाने का न्यौता दिया था।

हालांकि अब ऐसी चर्चा चल रही है कि शिवसेना एनसीपी के साथ सरकार बनाएगी, जबकि कांग्रेस उसे बाहर से समर्थन देगी। एनसीपी-कांग्रेस शुरु से ही शिवसेना के साथ गठबंधन करने से इंकार करती रही है, जबकि रविवार को भी महाराष्ट्र के कांग्रेस प्रभारी मल्लिकार्जुन खड़गे जयपुर में पार्टी के 44 विधायकों से रिसॉर्ट में मिले। मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस विधायकों के साथ बैठक के बाद कहा कि हमें विपक्ष में बैठने का मैंडेट मिला है। वही फैसला हमारा है। इसके बाद हाईकमान क्या निर्णय लेंगे ये उन पर छोड़ा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here