31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, 1 फरवरी को पेश होगा आम बजट, दो भाग में हो सकता है सत्र

रंपरा के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ ही इस सत्र की शुरुआत होगी और दोनों सदनों के सामने राष्ट्रपति मोदी सरकार की भावी योजनाओं का खाका पेश करेंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि उसी दिन सदन में सरकार 2019-20 के लिए आर्थिक सर्वेक्षण भी पेश करेगी।

0
66

नई दिल्ली: 31 जनवरी से संसद का बजट सत्र शुरु होने जा रहा है। परंपरा के अनुसार राष्ट्रपति के अभिभाषण के साथ इस वजट सत्र का शुभारंभ होगा। वहीं सत्र की शुरुआत होने के दूसरे दिन यानि 1 फरवरी को मोदी सरकार देश के सामने अपने बदट पेश करेगी। हालांकि 1 फरवरी को शनिवार है लेकिन मिली जानकारी के मुताबिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण उसी दिन 2020-21 के लिए मोदी सरकार का आम बजट पेश करेंगी। हालांकि इस बात पर अब तक कोई अधिकारिक सूचना नहीं दी गई है कि 1 फरवरी को शनिवार होने के कारण आम बजट पेश होगा या नहीं।

परंपरा के अनुसार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ ही इस सत्र की शुरुआत होगी और दोनों सदनों के सामने राष्ट्रपति मोदी सरकार की भावी योजनाओं का खाका पेश करेंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि उसी दिन सदन में सरकार 2019-20 के लिए आर्थिक सर्वेक्षण भी पेश करेगी। मिली जानकारी के मुताबिक ये बजट सत्र दो भाग में होगा। बजट सत्र का पहला भाग 31 जनवरी से शुरु हो कर 7 फरवरी तक चलने की संभावना है और दूसरा भाग मार्च के दूसरे हफ्ते से शुरु होगा।

नागरिकता कानून लागू होने के बाद देशभर में जिस तरह से हंगामा बरपा हुआ है, उसे देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि ये बजट सत्र भी हंगामेदार हो सकता है। कयास ये भी लगाए जा रहे हैं कि संसद से लेकर सड़क तक एकबार फिर नागरिकता कानून के विरोध में  रैली औऱ प्रदर्शन साथ साथ कई संस्थाओं द्वार संसद कूच आंदोलन भी हो सकते हैं। कांग्रेस ने भी इस मुद्दे को बड़ा बनाया हुआ है। ऐसे में बजट सत्र के दौरान भी ये मुद्दा छाए रहने की पूरी सम्भावना है। इसके साथ ही आम बजट और अर्थव्यवस्था से जुड़े मुद्दों पर भी गर्मागर्म बहस होने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here