नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में महीने भर से प्रदर्शन चल रहा है और ये अब हर विपक्षी पार्टी के लिए सरकार के प्रति रोष जारी करने का भी मंच बन गया है। सोमवार की देर रात कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह प्रोटेस्ट में हिस्सा लेने के लिए शाहीन बाग पहुंचे। उन्होंने इस दौरान नागरिकता कानून, एनआरसी और एनपीआर को लेकर विरोध जताया लेकिन सरकार के प्रति विरोध जाहिर करने के लिए उन्होंने इस मंच का सहारा नहीं लिया। जब उन्हें यहां भाषण देने के लिए भी कहा गया था लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उन्होंने मंच पर बोलने से इंकार करते हुए कहा कि ये कोई राजनीतिक मंच नहीं बल्कि जनता का मंच है।

हालांकि दिग्विजय सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, “हम सब सीएए, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ हैं क्योंकि ये तीनों संविधान के खिलाफ हैं।” साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि “हम केंद्र सरकार की विभाजनकारी नीतियों का विरोध करते हैं। इस देश में किसी के पास भी यह अधिकार नहीं है कि उन लोगों से नागरिकता का सबूत मांगे, जिन्होंने इस देश में रहना चुना है।”