106 दिनों बाद जेल से बाहर आए पी. चिदंबरम, पार्टी कार्यकर्ताओं में हार पहना कर किया भव्य स्वागत

सुप्रीम कोर्ट ने 74 वर्षीय कांग्रेस के इस वरिष्ठ नेता को जमानत पर रिहा करते हुये इस शर्त पर रिहा करने का आदेश दिया है कि वो इस मामले में अपने या अन्य सह-आरोपी के संबंध में कोई प्रेस इंटरव्यू या सार्वजनिक बयान नहीं देंगे।

0
63
Photo: ANI

नई दिल्ली: पूर्व गृहमंत्री और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम पूरे 106 दिनों के बाद वुधवार को तिहाड़ जेल से बाहर आ गये। उन्हें आईएनएक्स मीडिया केस में सुप्रीम कोर्ट ने जमानत दे दी है। ये जडमानत उन्हें मनी लॉन्ड्रिंग केस में मिली है। प्रवर्तन निदेशालय ने उन्हें 16 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। तब से कई बार उनकी जमानत याचिका को खारिज किया जा चुका था और आखिरकार सुप्रीम कोर्ट ने अब जा कर उन्हें जमानत दी है। जब पी.चिदंबरम जेल से बाहर आए तो उनका स्वागत करने के लिए कांग्रेस समर्थक तिहाड़ जेल के बाहर बड़ी संख्या में इकट्ठा थे और उन्होंने चिदंबरम का स्वागत हार पहनाकर किया।

जब चिदंबरम की रिहाई का वक्त आया तो उनके बेटे कार्ति जेल के बाहर ही उनका इंतजार कर रहे थे। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वो खुश हैं क्योंकि उनके पिता 106 दिनों के बाद घर लौट रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘लंबा इंतजार रहा। मैं उच्चतम न्यायालय का शुक्रगुजार हूं कि उसने उन्हें जमानत दी। मैं सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा समेत पूरे कांग्रेस नेतृत्व का आभारी हूं जिन्होंने हमारा सहयोग किया।’’

सुप्रीम कोर्ट ने 74 वर्षीय कांग्रेस के इस वरिष्ठ नेता को जमानत पर रिहा करते हुये इस शर्त पर रिहा करने का आदेश दिया है कि वो इस मामले में अपने या अन्य सह-आरोपी के संबंध में कोई प्रेस इंटरव्यू या सार्वजनिक बयान नहीं देंगे। जस्टिस आर भानुमति, जस्टिस ए एस बोपन्ना और जस्टिस ऋषिकेश राय की पीठ ने पूर्व वित्त मंत्री को जमानत देने से इंकार करने संबंधी दिल्ली हाईकोर्ट का फैसला निरस्त कर दिया। पीठ ने कहा कि चिदंबरम को दो लाख रुपये का निजी मुचलका और इतनी ही राशि की दो जमानतें पेश करने पर रिहा किया जाये। प्रवर्तन निदेशालय ने न्यायालय में दलील दी थी कि मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में एक गवाह चिदंबरम का सामना करने के लिये तैयार नहीं है क्योंकि दोनों एक ही राज्य के हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here