लॉकडाउन को बढ़ाए जाने की खबरें चौंकाने वाली हैं, हमारा ऐसा कोई प्लान नहीं है – केन्द्र सरकार

कोरोना की वजह से दुनियाभर में हलकान है। इसकी वजह से दुनियाभर में 33,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है जिसमें अकेले यूरोप में 20,000 लोगों की मौत हुई है।

0
127
Photo: ANI

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के चलते देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है। पिछले 6 दिनों से देश की जनता घर में कैद है। वहीं इसी बीच इस लॉकडाउन के अवधि को बढ़ाए जाने की ख़बरें भी आने लगी है जिसको लेकर लोगों में अपरातफरी का माहौल है। इसपर लगाम लगाते हुए केन्द्र ने स्पष्ट किया है कि फिलहाल सरकार का लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने का कोई विचार नहीं है। केंद्रीय मंत्रिमंडल सचिव राजीव गौबा ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा है कि लॉकडाउन को बढ़ाए जाने की खबरें चौंकाने वाली हैं, हमारा ऐसा कोई प्लान नहीं है। आपको बता दें कि भारत में कोरोना वायरस की वजह से अबतक कम से कम 1071 लोग संक्रमित हैं और कम से कम 29 लोगों की मौत हो चुकि है। इस संक्रमण से ग्रसित करीब 100 लोग ठीक हो चुके हैं।

कोरोना की वजह से दुनियाभर में हलकान है। इसकी वजह से दुनियाभर में 33,000 से अधिक लोगों की मौत हुई है जिसमें अकेले यूरोप में 20,000 लोगों की मौत हुई है। वहीं दुनिया भर में कुल 7 लाख से अधिक मामले सामने आए हैं। स्पेन और इटली में एक दिन में 800 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है। इस वायरस के प्रसार को रोकने के लिए दुनिया की आबादी का लगभग एक तिहाई लॉकडाउन में है। आपको बता दें कि अमेरिका इस वायरस के प्रकोप से सबसे अधिक प्रभावित है। अमेरिका में अब तक 142,000 से अधिक केस सामने आए हैं जबकि 2400 से ज्यादा मौतें हुई हैं। भारत की बात करें तो कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर रविवार को 1000 के पार पहुंच गई और इस वायरस से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 27 हो गया। 

इसी बीच, केंद्र सरकार ने प्रवासी श्रमिकों द्वारा कोरोना वायरस के सामुदायिक संचरण को रोकने के लिए देशभर में राज्य और जिलों की सीमाओं को सील करने का आदेश दिया और पहले ही सीमाएं पार कर चुके लोगों को 14 दिन पृथक रहने को कहा। भारतीय सेना के एक डॉक्टर और एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) के रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई। कर्नल रैंक के डॉक्टर कोलकाता में कमान अस्पताल में सेवा दे रहे हैं, जबकि जेसीओ देहरादून में सेना के एक बेस में तैनात हैं।