बिहार में बारिश की मार से जनजीवन अस्त-व्यस्त, कई ट्रेनें प्रभावित, घरों में भरा पानी

मौसम विभाग ने बिहार में 3 अक्टूबर तक हालात सामान्य होने की संभावना जताई है। अगले 48 घंटे के लिए कई इलाकों में रेड अलर्ट घोषित किया गया है।

0
139

पटना: बिहार में लगातार हो रही बारिश की वजह से सामान्य जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। ज्यादातर इलाकों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए है। मिली जानकारी के मुताबिक बिहार में शुक्रवार के बाद से 100 मिलीमीटर से अधिक बारिश हुई है, जिसकी वजह से पटना सहित अन्य इलाकों में भारी जलजमाव की स्थिति पैदा हो गई है। रेलवे ट्रैक पर पानी भरने के कारण ट्रेनों का परिचालन भी प्रभावित हुआ है। रेलवे के मुताबिक, यात्रियों की सुरक्षा के मद्देनजर कई ट्रेनों के रुट में परिवर्तन किया गया है तो कई ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं। मौसम विभाग के मुताबिक अगले 48 घंटों में भी भारी बारिश होने की संभावना है, जिसके मद्देनजर विभाग ने कई इलाकों के लिए रेड अलर्ट भी जारी कर दिया है। हालांकि मौसम विभाग ने संभावना जताई है कि 3 अक्टूबर तक हालात सामान्य हो जाएंगे।

हालात को देखते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को अलग अलग जिलों के जिलाधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हालात की जानकारी ली और आवश्यक कदम उठाने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों को 15 अक्टूबर तक सर्तक रहने का निर्देश दिया है। आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अलग अलग इलाके में बारिश की वजह से पैदा हुए हालात और आपदा प्रबंधन के बारे में जानकारी दी।

भारी बारिश की वजह से राजधानी पटना में हालात बद से बदतर हो गए हैं। पटना के कई इलाकों में पानी कमर से ज्यादा उपर तक जमा हो गया है। कई मंत्रियों के घर में बारिश का पानी घुस आया है। बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोद के निजी मकान, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, भाजपा सांसद राजीव प्रसाद रूड़ी और राजद विधायक एजिया यादव के घर में बारिश का पानी घुस आया है। वहीं नालंदा मेडिकल कॉलेज में बारिश का पानी घुसने की वजह से मरीजों का खासा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।