अमित शाह ने कहा – जम्मू कश्मीर में कहां है पाबंदी, अनुच्छेद – 370 पर पूरे विश्व ने सरकार के कदम को सराहा

उन्होंने हाल ही में हुए यूएन महासभा की चर्चा करते हुए कहा कि न्यूयॉर्क में सात दिनों के लिए दुनियाभर से आए नेता जमा हुए, लेकिन किसी ने भी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का मुद्दा नहीं उठाया। ये प्रधानमंत्री की बड़ी कूटनीतिक जीत है।

0
123

नई दिल्ली: गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में अब किसी तरह की कोई पाबंदी नहीं है। साथ ही उन्होंने ये बी कहा कि 5 अगस्त को लिए गये फैसले की वजह से अगले 5-7 साल में जम्मू-कश्मीर देश के सबसे विकसित क्षेत्र बनकर उभरेगा। गृहमंत्री ने घाटी में सरकार के कदम के प्रति दुष्प्रचार करने के लिए विपक्ष की भी आलोचना की। उन्होंने कहा कि 370 को लेकर गलतफहमियां दूर होनी चाहिए। कश्मीर में 196 थानाक्षेत्रों से कर्फ्यू हटा लिया गया है और सिर्फ 8 थानाक्षेत्र जो थोड़े संवेदनशील हैं वहां सीआरपीएफ ने धारा 144 बहाल रखे हुए है, जहां एकसाथ 5 या उससे ज्यादा लोग इकट्ठा ना हो सके।

उन्होंने हाल ही में हुए यूएन महासभा की चर्चा करते हुए कहा कि न्यूयॉर्क में सात दिनों के लिए दुनियाभर से आए नेता जमा हुए, लेकिन किसी ने भी जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का मुद्दा नहीं उठाया। ये प्रधानमंत्री की बड़ी कूटनीतिक जीत है। दरअसल गृहमंत्री अमित शाह राष्ट्रीय सुरक्षा पर हुई एक बैठक के दौरान ये सब बात कही। उन्होंने जम्म-कश्मीर में फैले आतंकवाद का जिक्र करते हुए कहा कि जम्म-कश्मीर में दशकों से फैले आतंकवाद ने अबक 41,800 लोगों की जान ली, लेकिन किसी ने भी जवानों, उनकी विधवाओं के मानवाधिकार का मुद्दा नहीं उठाया, जबकि कुछ दिनों तक मोबाइल कनेक्शन नहीं चलने से लोगों ने हल्ला मचाना शुरु कर दिया। फोन की कमी से मानवाधिकार का उल्लंघन नहीं होता।

गृहमंत्री ने सबका ध्यान इस ओर भी केन्द्रित किया कि जम्मू-कश्मीर में 10000 नए लैंडलाइन कनैक्शन दिये गए हैं, जबकि बीते दो महीने में 6000 पीसीओ भी दिए गए हैं। उन्होंने साफ साफ कहा कि अनुच्छेद 370 पर लिया गया सरकार का फैसला भारत की एकता और अखंडता को मजबूत करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here