निजामुद्दीन मरकज़ से कुल 1033 लोगों को बाहर निकाले गए, 334 लोगों को अस्पताल भेजा गया, 9 की मौत

मरकज बिल्डिंग से 334 लोगों को दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में शिफ्ट किया गया है और साथ ही 700 लोगों को क्वारंटिंग सेंटर भेजा गया है। सोमवार की शाम को मामले के खुलासे के बाद से ही पूरे इलाके को सील कर दिया गया।

0
67

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीगी मरकज में मौजूद कुछ लोगों में कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद हड़कंप मच गया है। केन्द्र सरकार के लॉकडाउन के फैसले के बावजूद हुए इस धार्मिक समारोह में सैकड़ों लोग मौजुद हुए थे। अब सभी को दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में ले जाकर भर्ती कराया जा रहा है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक सोमवार की सुबह करीब 9 बजे तक मरकज बिल्डिंग से 334 लोगों को दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में शिफ्ट किया गया है और साथ ही 700 लोगों को क्वारंटिंग सेंटर भेजा गया है। सोमवार की शाम को मामले के खुलासे के बाद से ही पूरे इलाके को सील कर दिया गया और बड़ी संख्या में वहां पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। डीटीसी की बसों से लोगों को अस्पताल तक लाया जा रहा है। आपको बता दें कि इस जमात में आए अबतक कम से कम 24 लोग संक्रमित पाए गए है, जबकि मरकस में आए 9 लोगों की मौत हो गई है।

दिल्ली स्वास्थ्य विभाग और विश्व स्वास्थय संगठन की टीम लगातार इस इलाके का दौरा कर रहे हैं और साथ ही कैंप भी बना दिया है। अबजब मामला इतना गंभीर हो गया तो पुलिस ने आयोजकों के खिलाफ पुलिस ने महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। मरकज इमरात की इस समय पुलिस ड्रोन से निगरानी चल रही है। मेडिकल टीम और पुलिस भी इमारत में मौजूद हैं। सभी लोगों पर नजर रखी जा रही है। पुरे इलाके के अलग-थलग कर दिया गया है। यहां से कोई ना तो बाहर जा सकता है और ना ही बाहर का कोई व्यक्ति इमारत के आसपास जा सकता है। इमारत में मौजूद लोगों को भी दूर-दूर कर दिया गया है। हजारों लोगों की जिन्दगी को दाव पर रख कर कार्यक्रम के आयोजन को लेकर अब दिल्ली के मुख्यमंत्री भी सख्त नज़र आ रहे हैं।

वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में हाई अलर्ट है। यूपी पुलिस ने दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में हुए इस जमात में एकत्र हुए 6 लोगों की तेलंगाना में मौत के बाद पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अलर्ट जारी किया है। पश्चिमी यूपी के जिलों में पुलिस अधीक्षकों से कहा गया है कि निजामुद्दीन में हुई जमात में शामिल अपने इलाके के लोगों की पहचान कर उनकी मेडिकल जांच कराई जाए। एसपी कानून-व्यवस्था अभय शंकर की ओर से गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़, बिजनौर, बागपत, वाराणसी, भदोही, मथुरा, आगरा, सीतापुर, बाराबंकी, प्रयागराज, बहराइच, गोण्डा व बलरामपुर के पुलिस अधीक्षकों को अलर्ट किया गया है।