Pok को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तानी कब्ज़े वाले कश्मीर की कसक मेरे अंदर है

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सेना के जवानों के बीच करीब 2 घंटे बिताये औऱ जवानों से बात की। करीब एक हजार जवानों की मौजूदगी में मोदी ने कहा कि भारतीय रक्षा बलों के पराक्रम के कारण ही ये संभव हो पाया कि केंद्र सरकार ने वो निर्णय लिए जो असंभव माने जाते थे।

0
83
Photo: ANI

राजौरी: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी दिवाली जम्मू-कश्मीर के राजौरी सेक्टर में सेना के जवानों के साथ मनाई। इस दौरान प्रधानमंत्री ने सेना के जवानों को मिठाई खिलाई और सभी को दिवाली की बधाई दी। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र ने सेना के जवानों के पराक्रम को याद किया और पाकिस्तान पर जमकर हमला बोला। पाकिस्तान पर हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद पाकिस्तान ने कई बार कश्मीर को छीनने की कोशिश की है, लेकिन हमारी सेना ने उनके मंसूबों को कामयाब नहीं होने दी। साथ ही प्रधानमंत्री ने ये भी कहा, ” पाकिस्तान ने अवैध रुप से कश्मीर के एक हिस्से पर कब्जा कर रखा है, जिसकी कसक मेरे अंदर हैं।

प्रधानमंत्री रविवार को जब राजौरी के आर्मी हेडक्वार्टर्स पहुंचे तो उन्हें अचानक अपने बीच पाकर जवानों का उत्साह देखते बन रहा था। पीएम मोदी ने भी अपने हाथों से जवानों को मिठाईयां खिलाई औऱ सभी को दिवाली की शुभकामनाएं दी। साथ ही साथ उन्होंने जवानों को देश की जनता की तरफ से भी आभार जताया। इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि जवानों के पराक्रम के कारण ही उनकी सरकार वे बड़े फैसले कर पाई जो असंभव माने जाते थे। मोदी एलओसी पर तैनात सैनिकों के साथ बातचीत करने के लिए सीधे सेना ब्रिगेड मुख्यालय पहुंचे।

प्रधानमंत्री जब राजौरी में सेना के जवानों के बीच पहुंचे तो उस वक्त सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत भी पीएम के साथ थे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सेना के जवानों के बीच करीब 2 घंटे बिताये औऱ जवानों से बात की। करीब एक हजार जवानों की मौजूदगी में मोदी ने कहा कि भारतीय रक्षा बलों के पराक्रम के कारण ही ये संभव हो पाया कि केंद्र सरकार ने वो निर्णय लिए जो असंभव माने जाते थे। उनका इशारा सीमा के उस पार की गई सर्जिकल स्ट्राइक, बालाकोट एयर स्ट्राइक और जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के विशेष दर्जे वाले प्रावधान को हटाने से जुड़े फैसले की ओर था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here