शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे की चेतावनी, कहा – आरे में पेड़ काटने वाले अधिकारियों को सत्ता में आते ही PoK भेज देंगे

शनिवार की सुबह पुलिस ने इलाके में धारा 144 लगा दिया, जिसके बाद वहा विरोध प्रदर्शन कर रहे करीब 100 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार हुए लोगों में शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी भी शामिल हैं।

0
42
FILE Photo

मुंबई: मेट्रो शेड बनाने के लिए आरे कॉलोनी में पेड़ काटने का मामला अब राजनीतिक मोड़ ले चुका है। हर पार्टी अब पेड़ को बचाने के मुहिम में जुड़ने की कोशिश में लगे हुए हैं। चाहे कांग्रेस हो या एनसीपी सभी इस मामले में खुद को जनता के साथ बता रहे हैं। लेकिन इसी बीच शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने पेड़ काटने वाले अधिकारियों को बड़ी चेतावनी दे डाली। आदित्य ठाकरे ने कहा कि जो भी अधिकारी आरे में पेड़ काटने आएंगे तो उन्हें जब शिवसेना-बीजेपी की सरकार सत्ता में आएगी तो उन अधिकारियों को PoK भेज दिया जाएगा। आपको बता दें कि पुलिस ने इस इलाके में धारा 144 लागू कर दिया है, जिसके बाद यहां प्रदर्शन कर रहे 100 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किये गए लोगों में शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी भी शामिल हैं।

शिवसेना भी लगातार इस पेड़ कटाई का विरोध करती आ रही है। आदित्य ठाकरे ने कहा, ” मासूम पर्यावरण को बचाने वाले लोगों को जेल में डाला जा रहा है फिर क्यों हम प्लास्टिक बंदी और पर्यावरण बचाने जैसे खोखली बातें दुनिया के सामने करते हैं। ” साथ ही ठाकरे ने ये भी कहा, ” शिवसेना भले ही सत्ता में है पर आरे कारशेड को हमारा विरोध है आगे भी जारी रहेगा। हमारा अन्य मुद्दों पर भी बीजेपी के साथ विरोध रहा है। ये लड़ाई ना बीजेपी के खिलाफ शिवसेना या मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस के खिलाफ है बल्कि ये मुंबईकर की बात है। हम ऐसे हर मुद्दे पर मुंबईकर के साथ हैं।” इससे पहले शनिवार की सुबह पुलिस ने इलाके में धारा 144 लगा दिया, जिसके बाद वहा विरोध प्रदर्शन कर रहे करीब 100 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार हुए लोगों में शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी भी शामिल हैं।

इस पूरे विवाद के बाद जो केन्द्र सरकार का बयान आया है वो भी हैरान करने वाला है। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पेड़ काटने के फैसले का समर्थन करते हुए कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए कहा है कि, “हाईकोर्ट ने माना है कि आरे जंगल नहीं है और जहां जंगल है पेड़ आप वहां नहीं काट सकते हैं।” जावड़ेकर ने ये भी कहा कि अगर कहीं पेड़ काटे जाते हैं तो वहां उससे कहीं ज्यादा पेड़ लगाए भी जाते हैं। इसके लिए मंत्री ने दिल्ली मेट्रो का हवाला दिया।

आपको बता दें कि मुंबई मेट्रो का कार शेड बनाने के लिए महाराष्ट्र सरकार ने आरे कॉलोनी में स्थित 2702 पेड़ों के काटने का आदेश दिया है। जिसके बाद ये यहां प्रदर्शन शुरु हो गया लेकिन विरोध के बावजूद भी पेड़ों की कटाई का काम नहीं रुका। मामला बांम्बे हाईकोर्ट पहुंचा तो शनिवार को कोर्ट ने इस याचिका को ये बोल कर खारिज कर दिया कि मामला अभी सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी में लंबित है। पेड़ काटने आए अधिकारियों के साथ मारपीट भी हुई। कई गिरफ्तारियां भी हुई। लोगों का आरोप है कि यहां रातोरात करीब 400 पेड़ काट दिए गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here