अयोध्या मामले में आज सुबह 10.30 बजे सुनाएगा फैसला, पांच जजों की संवैधानिक पीठ पढ़ेगी आदेश

इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच लगातार 40 दिनों तक बैठी थी। इस मैराथन सुनवाई के बाद 16 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

0
109
FILE Photo

नई दिल्ली: देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट शनिवार को देश का सबसे बड़ा फैसला सुनाने जा रही है। सुबह साढ़े 10 बजे सीजेआई रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संवैधानिक पीठ इस फैसले को सुनाएगी। जजों की ये पीठ सुबह के साढ़े 10 बजे बैठेगी और फैसला सुनाएगी। अयोध्या मामले में फैसला आने से पहले पूरे देश में सुरक्षा को लेकर खासा इंतजाम किया गया है। आपको बता दें कि रामजन्मभूमि – बाबरी मस्जिद विवाद सुप्रीम कोर्ट के इतिहास में दूसरी सबसे लंबी सुनवाई हुई है। इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट की संवैधानिक बेंच लगातार 40 दिनों तक बैठी थी। इस मैराथन सुनवाई के बाद 16 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

अयोध्या मामले में फैसला सुनाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का कोर्ट नंबर – 1 खोला जाएगा। जहां सिर्फ मामले से जुड़े लोगों को आने की अनुमति दी गई है। सीजेआई रंजन गोगोई, जस्टिस एस ए बोबडे, जल्टिस अशोक भूषण, जस्टिस धनंजय वाई चंद्रचूर और जस्टिस एस अब्दुल नजीर की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ये फैसला सुनाएगी। अयोध्या मामले में फैसला आने से पहले उत्तरप्रदेश, दिल्ली, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, मध्यप्रदेश जैसे राज्यों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इन राज्यों में एहतियातन सभी स्कूलों को बंद रखने का आदेश दिया गया है। पूरे उत्तरप्रदेश में धारा 144 लागू कर दिया गया है।

अयोध्या मामले में अपना फैसला सुनाने से पहले पीएम मोदी ने लोगों से अपील की कि वे शांति और सद्भावना पर बनाए रखें। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए ये बात कही है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जो भी फैसला आएगा वो किसी की हार जीत नहीं होगा। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में लगातार इसपर सुनवाई हो रही थी और पूरा देश इसे उत्सुकता से देख रहा था। समाज के सभी वर्गों के लोगों ने सद्भावना का माहौल बनाए रखने के प्रयास किए गए जो सहारनीय है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here