दिल्ली हिंसा से अब तक 13 की मौत, बुधवार को भी स्कूलों छुट्टी, CBSE की परीक्षाएं स्थगित

हिंसा से सबसे अधिक प्रभावित मौजपुर इलाका हुआ है जहां कई स्थानों पर धुआं निकलता देखा गया। वहीं, चांद बाग इलाके में भी मंगलवार को आगजनी की गई।

0
49

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधित कानून के विरोध में मंगलवार को भी दिल्ली में हिंसा का दौर जारी रहा। एकबार फिर से उपद्रवी भीड़ ने मौजपुर, भजनपुरा और ब्रह्मपुरी में भीड़ ने पथराव और दुकानों में तोड़फोड़ की। इस हिंसा में अब तक दिल्ली पुलिस का हेड कॉन्स्टेबल समेत 13 लोगों की जान जा चुकी है। इनमें से 8 मौते तो सिर्फ मंगलवार को हुई। इससे पहले सोमवार को 5 लोगों की मौत हुई। दिल्ली में फैले हिंसा के मद्देनजर वुधवार को भी उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में छुट्टी रहेगी। इस बात की घोषणा खुद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने की। इसके अलावा सभी इंटरनल एग्जाम भी स्थगित कर दिए गए हैं। वहीं, सीबीएसई ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में बुधवार को होने वाली 10-12वीं की परीक्षाएं स्थगित कर दी है।

Photo: ANI

हिंसा से सबसे अधिक प्रभावित मौजपुर इलाका हुआ है जहां कई स्थानों पर धुआं निकलता देखा गया। वहीं, चांद बाग इलाके में भी मंगलवार को आगजनी की गई। हिंसा के बाद दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक ने कहा है कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। पर्याप्त पुलिस बल, सीएपीएफ और वरिष्ठ अधिकारी उत्तर पूर्वी दिल्ली में तैनात हैं। कुछ इलाकों में धारा 144 लागू है। आपको बता दें कि दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर में सोमवार को सीएए का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने सांप्रदायिक रंग ले लिया और वहां फैली इस हिंसा में करीब 150 लोग घायल हुए। इलाके में तनाव कायम होने के चलते स्कूल बंद हैं और डर के कारण लोग भी घरों से बाहर नहीं निकल रहे। वहीं उत्तर पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित क्षेत्र में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दिया गया है।

वहीं दिल्ली में फैले हिंसा के मद्देनज़र नोएडा में भी रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है। यहां भी पुलिस अलर्ट पर है। पुलिस उपायुक्त (जोन प्रथम) संकल्प शर्मा ने मंगलवार को बताया कि दिल्ली- नोएडा सीमा पर पुलिस सघन जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि सोमवार देर रात से ही नोएडा तथा दिल्ली को जोड़ने वाले सभी मार्गों पर अवरोधक लगा दिए गए हैं, वाहनों की जांच जारी है और पुलिस के आला अधिकारी रात से ही स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। पुलिस उपायुक्त शर्मा ने बताया कि स्थिति शांतिपूर्ण है लेकिन एहतियात के तौर पर पुलिस की गश्त बढ़ा दी गई है। डीसीपी ने बताया कि गुप्तचर एजेंसियों को भी सतर्क किया गया है तथा संवेदनशील क्षेत्रों पर नजर रखी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here