World AIDS Day: दुनिया में 80 लाख लोगों को नहीं पता कि उन्हें एड्स है, भारत में अब भी 20-25 लाख शिकार

एड्स कई कारणों से फैलता है जैसे संक्रमित रक्त, संक्रमित सुई और सीरिंज, असुरक्षित यौन संबंध। इन मुख्य कारणों से ही एड्स फैलने का खतरा रहता है।

0
69

एड्स ऐसी ख़तरनाक बिमारी जिसका नाम सुन कर भी लोगों के अंदर सिहरन पैदा हो जाये लेकिन इसके आंकड़े जान कर आप भी हैरान हो जाएंगे। हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे के रुप में मनाया जाता है। एड्स यानि एक्वायर्ड इम्युनो डेफिशियेन्सी सिन्ड्रोम की रोकथाम के लिए भारत समेत पूरी दुनिया में प्रयास किए जा रहे हैं। हालांकि एक रिपोर्ट की मानें तो पिछले कुछ सालों में एड्स से होने वाली मौतों में कमी आई है। हमारे देश में इस गंभीर बीमारी को रोकने के लिए तमाम तरीके अपनाए गए और लोगों को विज्ञापन के जरिए एड्स के प्रति जागरुक किया गया और शायद यही वजह है कि इससे संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या में कमी आई है।

इस ख़तरनाक बीमारी की रोकथाम के लिए दुनिया में कई बड़े वैज्ञानिक रिसर्च में जुटे हुए हैं। वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि एक इंफ्यूजन नाम की तकनीक एड्स को नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकती है। हालांकि इससे पहले एड्स को रोकने के लिए कई ऐसी तकनीकों का इस्तेमाल किया जा चुका है लेकिन उसका कोई खास फायदा नहीं पहुंचा है। ऐसे में इंफ्यूजन नाम की इस तकनीक से इस घातक बीमारी से जूझ रहे लोगों को काफी उम्मीदें हैं। इस साल वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन ने एड्स डे के लिए स्पेशल थीम “कम्युनिटी मेक द डिफरेंस” रखा है। कई बड़ी एनजीओ और संस्थाएं एड्स के प्रति लोगों को जागरुक रही हैं। यही कारण है कि एड्स के कारण होने वाली मौतों में 2004 के मुकाबले काफी कमी आई है।

पूरी दुनिया में करीब 4 करोड़ लोग एड्स जैसे खतरनाक रोग के शिकार हैं जबकि भारत में ये आंकड़ा 20 से 25 लाख है। हैरानी की बात ये है कि दुनिया में 80 लाख लोगों को ये पता ही नहीं कि उन्हें एड्स है। भारत में लोग समाज के डर से इस बीमारी के बारे में बात नहीं करते और इसे छुपाते हैं जिसका उन्हें बाद में खामियाजा भुगतना पड़ता है। समाज भी एचआईवी से पीड़ित लोगों ठीक व्यवहार नहीं करता जिससे वह अपने इस गंभीर रोग को बताने में झिझकते हैं और इसका समाधान नहीं हो पाता। एड्स कई कारणों से फैलता है जैसे संक्रमित रक्त, संक्रमित सुई और सीरिंज, असुरक्षित यौन संबंध। इन मुख्य कारणों से ही एड्स फैलने का खतरा रहता है। ऐसे में लोगों को इनसे बचने की खास जरुरत है। साथ इससे बचने के उपायों का प्रचार करने की भी आवश्कयता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here