रेल मंत्रालय का बड़ा फैसला, 12 मई से आंशिक रूप से चलेंगी पैसेंजर ट्रेन, सोमवार शाम 4 बजे से शुरू होगी बुकिंग

रेल मंत्रालय ने अपनी प्रेस रिलीज में ट्रेनों के समय का जिक्र नहीं किया है। वह बाद में जारी किया जाएगा। शुरु में ये सभी ट्रेन दिल्ली से 15 जगहों के लिए खुलेंगी।

0
407

नई दिल्ली: एक तरफ कोरोना वायरस के संक्रमण से जहां पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है तो वही दूसरी रेलवे ने एक बड़ा फैसले लेते हुए आंशिक रुप से कुछ जगहों के लिए पैसेंजर ट्रेन चलाने का फैसला किया है। भारतीय रेल मंगलवार 12 मई से रेलवे की आंशिक सेवा शुरू करने जा रही है। सोमवार की शाम 4 बजे से टिकट रिजर्वेशन शुरू हो रहा है और मंगलवार से आंशिक तौर पर रेल सेवा शुरू होने जा रही है। फिलहाल, प्लेटफॉर्म पर आने की अनुमति सिर्फ उन्हीं लोगों को होगी जिनके पास ट्रेन का कन्फर्म टिकट होगा। यहां ध्यान देने वाली बात ये भी है कि सभी टिकट ऑनलाइन माध्यम से ही बुक होंगी। इस दौरान टिकट खिड़की बंद रखा जाएगा। रेल मंत्रालय ने ये भी फैसला लिया है कि ट्रेन पर चढ़ने से पहले सभी यात्रियों की जांच होगी और जिसमें भी अगर लक्षण दिखाई दिया या फिर वो किसी अन्य बिमारी से ग्रसित हैं तो उन्हें यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। इस बात की घोषणा खुद रेलमंत्री पीयुष गोयल ने अपने ट्विटर के माध्यम से किया है।

आपको बता दें कि शुरुआत में 15 जोड़ी ट्रेनें (आना-जाना) चलेंगी। उसके बाद ट्रेनों के परिचालन में आगे विस्तार किया जाएगा। यह ट्रेनें दिल्ली से स्पेशल ट्रेनों के तौर पर चलेंगी, जो डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंद्रबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू-तवी को जोड़ेंगी। इन सभी ट्रेनों के लिए भारतीय रेलवे की वेबसाइट www.irctc.co.in से रिजर्वेशन कराया जा सकता है। किसी के लिए भी काउंटर से टिकट नहीं मिलेगा। इसके लिए कुछ दिशा-निर्देश भी जारी किये गए है कि सभी यात्रियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इसके अलावा सभी की ट्रेन में बैठने से पहले स्क्रिनिंग की जाएगी और जिन लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण नहीं होंगे सिर्फ उन्हें ही ट्रेन में बैठने दिए जाएगा। यह पूरी जानकारी रेलवे मंत्रालय ने प्रेस रिलीज जारी करके दी। 

हालांकि, रेल मंत्रालय ने अपनी प्रेस रिलीज में ट्रेनों के समय का जिक्र नहीं किया है। वह बाद में जारी किया जाएगा। आपको बता दें कि कोरोना वायरस के कारण सरकार ने ट्रेनें भी बंद कर दी थीं। हालांकि, लॉकडाउन के तीसरे चरण में फंसे हुए लोगों को निकालने के लिए स्पेशल ट्रेनें चलाई गई हैं। भारतीय रेल ने कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिये लागू लॉकडाउन की वजह से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे करीब चार लाख प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्य पहुंचाया और इसके लिए एक मई से 366 “श्रमिक स्पेशल” ट्रेनों का संचालन किया गया।