केजरीवाल के शपथ ग्रहण में शिक्षकों को बुलाने पर हुआ विवाद, कपिल मिश्रा ने उठाए सवाल

दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की प्रचंड जीत के बाद अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में शपथ लेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक वो अपनी पूरी कैबिनेट के साथ रविवार की सुबह 10 बजे शपथ लेंगे।

0
93
FILE Photo

नई दिल्ली: दिल्ली के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के शपथग्रहण समारोह में दिल्ली के सरकारी स्कूल के शिक्षकों के समारोह में शामिल होने को लेकर पारित किये गए आदेश को लेकर आम आदमी पार्टी विपक्षी पार्टियों के निशाने पर आ गई है। भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की तरफ से सोशल मीडिया पर जारी किये गए सर्कुलर के मुताबिक, शिक्षा निदेशालय ने सभी स्कूल शिक्षकों, प्रिंसिपल, वाइस-प्रिंसिपल, हैप्पीनेस कोऑर्डिनेटर्स और संरक्षक शिक्षकों को शपथ ग्रहण समारोह के लिए एक परिपत्र जारी किया है। अब इसको लेकर बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा है।

कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर कहा है, ”सरकार के शपथ ग्रहण में टीचर्स आयें ये अच्छी बात है। लेकिन सरकारी आर्डर निकालकर जबरदस्ती टीचर्स को लाया जाए, टीचर्स की हाजिरी रामलीला मैदान में लगाई जाए, ये एक गलत परंपरा की शुरुआत है। शपथ ग्रहण को ऐसे “अनावश्यक ग्रहणों” से मुक्त रखना चाहिए।” आपको बता दें कि दिल्ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की प्रचंड जीत के बाद अरविंद केजरीवाल 16 फरवरी को दिल्ली के रामलीला मैदान में शपथ लेंगे। मिली जानकारी के मुताबिक वो अपनी पूरी कैबिनेट के साथ रविवार की सुबह 10 बजे शपथ लेंगे। इसके लिए रामलीला मैदान में तैयारियां चल रही है और इसके लिए पुलिस ने भी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं।