राहत पैकेज के दूसरे चरण के एलान पर कांग्रेस नेता सुरजेवाला बोले- ‘खोदा पहाड़, निकला जुमला’

वित्त मंत्री ने बताया कि देश भर में एक विशेष मुहिम चलाई जा रही है कि जो प्रवासी मजदूर जहां हैं अगर वो चाहें तो वहां पर भी अपने आप को रजिस्टर कराकर वहां काम ले सकते हैं।

0
159
FILE Photo

नई दिल्ली: सरकार के आर्थिक पैकेज की घोषणा के बाद अब इस पर राजनीति शुरु हो गई है। कांग्रेस ने सरकार के ऐलान के बाद से केन्द्र की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मोदी सरकार के 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक राहत पैकेज के दूसरे चरण के एलान के बाद केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के आज किए गए एलानों को “खोदा पहाड़, निकला जुमला” करार दिया। सुरजेवाला ने एक ट्वीट के ज़रिए कहा, “श्रीमती निर्मला सीतारमन के आर्थिक पैकेज के दूसरे दिन की घोषणाओं का अर्थ- “खोदा पहाड़, निकला जुमला।”

आज राहत पैकेज के दूसरे चरण का लेखा जोखा पेश करते हुए वित्त मंत्री ने 9 एलान किया. आज मज़दूरों, छोटे किसानों, प्रवासी मज़दूरों, शहरी गरीबों समेत कई क्षेत्रों के लिए मदद की घोषणा की गई. इसके साथ ही प्रवासी मज़दूरों को अगले दो महीने तक बिना राशन कार्ड के मुफ्त राशन देने का भी एलान हुआ.

प्रवासी मजदूर, छोटे किसान, स्ट्रीट वेंडर आदि के लिए कुल 9 घोषणाएं की:

3 करोड़ किसानों के लिए जो 4,22,000 करोड़ के कृषि ऋण का लाभ दिया गया है, उसमें पिछले तीन महीनों का लोन मोरटोरियम है। ब्याज पर सहायता दी है।

25 लाख नए किसान क्रेडिट कार्ड की मंजूरी दी है जिसकी लिमिट 25000 करोड़ होगी।

कृषि ऋण के लिए ब्याज पर सहायता और त्वरित भुगतान के लिए निर्धारत अवधि को 1 मार्च 2020 से बढ़ाकर 31 मई 2020 किया जा रहा है।

मार्च 1 से 30 अप्रैल के बीच 86 हज़ार 600 करोड़ रुपये के 63 लाख लोन जारी किए गए।

मार्च 2020 में नाबार्ड में सहकारी बैंकों और ग्रामीण बैंकों की मदद के लिए 29 हज़ार 500 करोड़ रुपये सहायता के लिए दिए गए।

राज्यों को कृषि उत्पादन की खरीद के लिए मार्च 2020 से अब तक 6700 करोड़ रुपए की कार्यशील पूंजी दी गई है।

वित्त मंत्री ने बताया कि देश भर में एक विशेष मुहिम चलाई जा रही है कि जो प्रवासी मजदूर जहां हैं अगर वो चाहें तो वहां पर भी अपने आप को रजिस्टर कराकर वहां काम ले सकते हैं।