एनसीपी प्रमुख शरद पवार के दिल्ली निवास से सुरक्षा हटाने के केन्द्र सरकार के फैसले के खिलाफ अब राजनीति शुरु हो गई है। इस मुद्दे पर महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने इसे राजनीति से प्रेरित कार्रवाई बताया है। उन्होंने कहा है कि उन्हें (शरद पवार) Z+ सुरक्षा दी गई थी। उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर कई साल तक सेवाएं दी है। उनकी सुरक्षा को हटा दिया जाना सिवाए राजनीति के कुछ भी नहीं है। केंद्र सरकार जिस तरह की राजनीति कर रही है वह बिल्कुल भी ठीक नहीं है।

वहीं महाराष्ट्र के जल संसाधन मंत्री जयंत पाटिल ने भी इस मुद्दे को लेकर केन्द्र की बीजेपी सरकार की कड़ी आलोचना की और केंद्र के इस कदम को महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी की हार से जोड़ा। वहीं, राज्य के आवास मंत्री जितेंद्र अव्हाड ने कहा, शरद पवार किसी को डराने वाली रणनीति से भयभीत नहीं होंगे। चिंता की बात नहीं है, जनता का स्नेह ही पवार साहब का असली सुरक्षा कवच है। आपको बता दें कि दिल्ली में शरद पवार के निवास पर तैनात दिल्ली पुलिस के सुरक्षाकर्मियों को 20 जनवरी से अचानक हटा लिया गया। हालांकि, महाराष्ट्र में उन्हें घर और उनके दौरों पर उचित सुरक्षा दी जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here