Disease X: कोरोना के बीच वैज्ञानिकों ने दी नए घातक वायरस की चेतावनी, हो सकती है 7.5 करोड़ मौतें…

कोविड-19 (Covid - 19) इस बात का उदाहरण है कि कैसे जानवर से इंसानों में पहुंचा वायरस पूरी मानव जाति के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं।

0
316

नई दिल्ली: अभी कोविड महामारी से लोग बेहाल ही हैं कि इसी बीच एक और नए महामारी की चेतावानी वैज्ञानिकों ने दे दी है। ये चेतावनी है Disease X की। ये नए घातक वायरस की चेतावनी है जो इंसानों के लिए जानलेवा साबित हो सकता है। हैरान करने वाली बात ये है कि ये वायरस कोरोना वायरस से ज्यादा तेजी से फैल सकता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक ये बीमारी इबोला वायरस (Ebola virus) की तरह घातक साबित हो सकती है। वही WHO का अनुमान है कि हर साल इस बीमारी के लगभग एक अरब मामले सामने आ सकते हैं और लाखों लोगों की मौत हो सकती है।

चूहों और चमगादड़ों से फैल सकती है ये बिमारी

हेल्महोल्ट्ज-सेंटर के डॉ. जोसेफ सेटल ने द सन ऑनलाइन को बताया है कि “जानवरों की कोई भी प्रजाति इस बीमारी का स्रोत हो सकती है। संभावना उन समूहों के लिए ज्यादा है, जहां चूहों और चमगादड़ों जैसी अधिक प्रजातियां हैं।” साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि यह प्रजातियों के अनुकूलन क्षमता पर निर्भर करता है। फिलहाल इस बीमारी के बारे में कुछ खास पता नहीं चला है लेकिन शोधकर्ताओं का कहना है कि यह अज्ञात बीमारी अगली महामारी बन सकती है। हालांकि इसका एक मरीज कांगो में मिला था। कांगो में मिले इस मरीज को तेज बुखार था और साथ ही इंटरनल ब्लीडिंग भी हो रही थी। उसका इबोला का टेस्ट कराया गया लेकिन वह नेगेटिव आया।

कोरोना से ज्यादा घातक हो सकती है ये महामारी

वैज्ञानिकों को अब ये डर सता रहा है कि कहीं ऐसा ना हो कि ये महामारी कोरोना से भी ज्यादा ख़तरनाक हो और ये बिमारी ब्लैक डेथ से भी बदतर हो सकती है, जिसमें 7.5 करोड़ लोगों की मौत हुई थी और डिजीज एक्स वायरस इससे ज्यादा खतरनाक हो सकता है। इतना ही नहीं आने वाले समय में मानव जाति को हर पांच साल में स्वास्थ्य संकट का सामना करना पड़ सकता है। EcoHealth Alliance के अनुसार, दुनिया में मौजूद 1.67 मिलियन अज्ञात वायरस में से 827000 जानवरों से मनुष्यों में आए हैं।

कोविड-19 (Covid – 19) इस बात का उदाहरण है कि कैसे जानवर से इंसानों में पहुंचा वायरस पूरी मानव जाति के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं। बर्ड फ्लू, SARS, MERS, Nipah और यलो फीवर सभी वायरस के सामान्य उदाहरण हैं, जो पहले जानवरों में उत्पन्न हुए थे और फिर इंसानों में पहुंच गए।