कोरोना की दूसरी लहर में अब तक 730 डॉक्टर्स की मौत, बिहार में सबसे ज्यादा डॉक्टरों की गई जान

देश में वुधवार को कोविड-19 के 62,224 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,96,33,105 हो गई।

0
161

नई दिल्ली: जहां एक तरफ कोरोना की दूसरी लहर कमजोर होती जा रही है तो वही दूसरी तरफ कोरोना की दूसरी लहर में 730 चिकित्सकों की मौत के आंकड़े ने चिंता में डाल दिया है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर में 730 डॉक्टरों की मौत हुई है। एसोसिएशन की ओर से जारी की गई इस सूची के मुताबिक कोरोना की दूसरी लहर में सबसे ज्यादा मौत बिहार में हुई है। बिहार में कुल 115 डॉक्टर वायरस की चपेट में आने के बाद दम तोड़ दिए। वहीं, डॉक्टरों की मौत के मामले में राजधानी दिल्ली अब दूसरे नंबर पर आ गई है। राजधानी दिल्ली में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान कुल 109 डॉक्टरों की मौत हुई है।

पंजाब और छत्तीसगढ़ में सबसे कम मौत

आईएमए द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 79, पश्चिम बंगाल में 62, राजस्थान में 43, झारखंड 39 और आंध्र प्रदेश में 38 डॉक्टरों की मौत हुई है। तो वहीं मध्यप्रदेश में 16 और छत्तीसगढ़ में 5 डॉक्टर कोरोना के शिकार हुए। इसके साथ ही हरियाणा और पंजाब में 3-3 डॉक्टरों की मौत हो गई। वहीं तमिलनाडु में 32, ओडिशा में 31, केरल में 24 और महाराष्ट्र में 23 और मध्य प्रदेश में 16 डॉक्टरों की मौत हुई है।

पहली लहर की तुलना में दूसरी लहर में ज्यादा मौत

पिछले साल भारत में 748 डॉक्टरों ने कोविड-19 के चलते दम तोड़ दिया था जबकि इस लहर के दौरान कम समय में ही अब तक 730 डॉक्टरों की जान चली गई है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने डॉक्टरों की सुरक्षा के संबंध में उचित कदम उठाने, स्वास्थ्यकर्मियों को नि:शुल्क उपचार उपलब्ध कराने की मांग कर चुकी है। इसके अलावा निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में कार्यरत स्वास्थ्यकर्मी जिनका कोरोना के चलते निधन हो गया है, उनके परिवारों को मुआवजा देने की भी मांग की गई है।

क्या है कोरोना का ताज़ा हाल?

देश में वुधवार को कोविड-19 के 62,224 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,96,33,105 हो गई। वहीं, 70 दिन बाद उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी नौ लाख से कम हो गई है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 2,542 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 3,79,573 हो गई है।