महाराष्ट्र में सरकार को लेकर आज हो सकता है फैसला, शरद पवार करेंगे सोनिया गांधी से मुलाकात

सूत्रों के मुताबिक, तीनों पार्टियों को लेकर मंत्रालय का बंटवारा कैसे होगा इसको लेकर के ड्राफ्ट भी तैयार हो चुका है औऱ उम्मीद है कि सोनिया गांधी और शरद पवार के इस मुलाकात में इसबात पर भी बातचीत हो सकती है।

0
219
File Photo

नई दिल्ली: महाराष्ट्र में सरकार को लेकर गतिरोध अभी तक जारी है। इसको लेकर अब तक कोई ठोस फैसला नहीं हो पाया है। शिवसेना अपनी बात कर रही है तो एनसीपी अपनी बात कर रही है। हालांकि शिवसेना ने दावा किया है दिसंबर तक महाराष्ट्र की जनता को नई और स्थायी सरकार मिल जाएगी। एनसीपी भी अबतक यही बात कहती है आई है लेकिन एनसीपी कांग्रेस के स्टेंड का इंतजार कर रही है। इसी बीच सोमवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी के बीच मुलाकात होने वाली है। इस मुलाकात को लेकर उम्मीद जताई जा रही है कि महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर कोई ठोस बात निकल कर सामने आ सकती है।

हालांकि सरकार में अभी तक शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच जितनी भी बैठकें हुई उसमें अब तक कोई भी तस्वीर साफ नहीं हो पाई थी। लेकिन अब सोनिया गांधी और शरद पवार के बीच होने वाली बैठक से उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार बनाने को लेकर अब शायद कोई ठोस बात निकल कर सामने आ सकती है। सूत्रों के मुताबिक, तीनों पार्टियों को लेकर मंत्रालय का बंटवारा कैसे होगा इसको लेकर के ड्राफ्ट भी तैयार हो चुका है औऱ उम्मीद है कि सोनिया गांधी और शरद पवार के इस मुलाकात में इसबात पर भी बातचीत हो सकती है। महाराष्ट्र में 12 नवंबर को राज्यपाल के सिफारिश के बाद राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया है।

महाराष्ट्र में 28 अक्टूबर को चुनाव नतीजा आने के बाद से सरकार बनाने को लेकर खींचतान जारी है। पहले शिवसेना और बीजेपी के बीच 50-50 फॉर्मूले को लेकर विवाद हुआ औऱ फिर मुख्यमंत्री पद को लेकर विवाद इतना बड़ा हो गया कि केन्द्र में भी शिवसेना और बीजेपी का गठबंधन टूट गया। इस बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर चलता रहा और शिवसेना लगातार एनसीपी के साथ संपर्क में रही ताकि महाराष्ट्र में एक स्थाई सरकार बन सके लेकिन 19 दिनों तक शिवसेना, एनसीपी औऱ कांग्रेस के बीच बातचीत बेनतीजा रहा और आखिरकार राज्यपाल के सिफारिश के बाद 12 नवंबर को प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया।