लॉकडाउन के बीच रमा फाउंडेशन ने की जरूरतमंद लोगों को खाद्यान्न सामग्री वितरित

नम्रता अपने इलाके के लोगों को लगातार जागरूक कर रही हैं कि वो अपने घरों में ही रहें और कोरोना को हराए। समाजसेवी नम्रता नारायण के मुताबिक वो लगातार अपने क्षेत्र का मुआयना कर रही है और ये भी सुनिश्चित करती हैं कि कहीं कोई गरीब भूखा न सोए।

0
108

नोएडा: एक तरफ पूरा देश जहाँ लॉकडाउन की वजह से अपने-अपने घरों में कैद हैं तो वहीं दूसरी तरफ देश का मजदूर वर्ग के लिए एक वक्त की रोटी के लाले पड़ गए हैं। क्योंकि ये वो वर्ग है जो रोज कड़ी मेहनत करता है तभी खुद के लिए और अपने परिवार के लिए एक वक्त की रोटी का इंतजाम कर पाता है। ऐसे में कई स्वयंसेवी संस्था सामने आई और इन मजदूर वर्गों के लिए खाने पीने का इतंजाम कर रहे हैं। इस संकट की घड़ी में नोएडा की स्वंयसेवी संस्था रमा फाउन्डेशन ने ऐसे परिवारों के बीच जाकर लगातार खाने पीने की चीजें वितरित कर रही है। पिछले 10 दिनों से ये संस्था लगातार ऐसे परिवारों के लिए खाने-पीने की चीजों का इंतजाम कर रही है। रमा फाउंडेशन की फाउंडर नम्रता नारायण ने कहा है कि इस समय देश को सबसे ज्यादा जरूरत है। कोरोना से लड़ने के लिए स्वयंसेवी लोगों की तो भला वो पीछे कैसे रह सकती है।

इतना ही नहीं नम्रता अपने इलाके के लोगों को लगातार जागरूक कर रही हैं कि वो अपने घरों में ही रहें और कोरोना को हराए। समाजसेवी नम्रता नारायण के मुताबिक वो लगातार अपने क्षेत्र का मुआयना कर रही है और ये भी सुनिश्चित करती हैं कि कहीं कोई गरीब भूखा न सोए। फिलहात नम्रता का प्रयास जारी है कि उनके क्षेत्र में कोई मजबूर अनाज एवं रोजमर्रा खाने की सामग्री की कमी के कारण भूखा ना रह पाए। इसलिए वो लोगों में खाद्यन्न सामग्री सुचारु रूप से बाट रही हैं। नम्रता नारायण का कहना है कि “नोएडा और ग़ाज़ियाबाद में अगर कोई जरूरतमंद व्यक्ति जो आर्थिक मजबूरी के कारण खाद्यन्न सामग्री लेने में असमर्थ है वो उन्हें फ़ोन कर उनसे सहायता मांग सकते है। वह भरपूर प्रयास करेंगी की साहयता उनके घर पहुँचा सके।” नम्रता जी के इस मुहिम में उनका साथ सैम स्पोर्ट्स एकेडमी, अम्बे एग्रो फूड्स एवं और भी कई समाजसेवी लोग दे रहे है।