COVID-19 के चलते इस साल रद्द हो सकता है IPL, अब है औपचारिक ऐलान का इंतजार

भारत में कोविड-19 के अब भी 126 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि दो की मौत हो चुकी है। सभी विदेशी वीजा 15 अप्रैल तक रोक दिए गए हैं, जबकि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने छोटे आईपीएल के संकेत दिए हैं।

0
143

मुंबई: कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद इस साल होने वाले दुनिया की सबसे बड़ी क्रिकेट लीग आईपीएल को लेकर संदेह बरकरार है। आईपीएन का 13वां सीजन 29 मार्च से शुरु होने वाला था लेकिन देश में लगातार बढ़ते कोरोना के संक्रमण के चलते इसे 15 अप्रैल तक के लिये टाल दिया गया था। हालांकि दुनियाभर में कोरोना को लेकर जो भी हालात पैदा हुए हैं उसके देखते हुए अब ये लग रहा है कि इस साल आईपीएल को टाल दिया जाएगा, बस औपचारिक ऐलान का ही इंतजार है। मिली जावकारी के मुताबिक अब आईपीएल की टीमें भी यह बात सुनने के लिए लगभग तैयार हैं कि इस बार आईपीएल नहीं होगा। हालांकि आईपीएल को लेकर सोमवार शाम को एक महत्‍वपूर्ण टेली कॉफ्रेंस हुई, लेकिन इसमें कुछ भी तय नहीं हो सका। 

आईपीएल की 8 फ्रेंचाइजी टीमों के मालिकों की सोमवार को टेली कांफ्रेन्स के दौरान कोई फैसला नहीं किया गया, क्योंकि देश और विश्व भर में कोरोना वायरस महामारी को लेकर पिछले 48 घंटों में कोई बदलाव नहीं आया है। भारत में कोविड-19 के अब भी 126 मामले दर्ज किए गए हैं, जबकि दो की मौत हो चुकी है। सभी विदेशी वीजा 15 अप्रैल तक रोक दिए गए हैं, जबकि बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने छोटे आईपीएल के संकेत दिए हैं। वहीं दूसरी तरफ फ्रेंचाइजियां बीसीसीआई के साथ मिलकर लीग के 13वें संस्करण को आयोजित कराने के लिए पूरी शिद्दत से मेहनत कर रही हैं। हालांकि फ्रेंचाइजियों के मालिकों ने अपने आप को लीग के रद होने की खबर सुनने के लिए भी तैयार कर लिया है। मिली जानकारी के मुताबिक बीसीसीआई के बैठक में सर्वसम्मित से यह फैसला लिया गया था कि सुरक्षा पहले है और हम ऐसी स्थिति में साथ हैं। देखते हैं कि चीजें कैसे होती हैं, हो सकता है कि इस साल लीग न हो।

बीसीसीआई और आईपीएल फ्रेंचाइजियों ने सरकार द्वारा विदेशी खिलाड़ियों को लीग में खेलने की मंजूरी देने की बात की थी, लेकिन सवाल यह है कि क्या विदेशी बोर्ड अपने खिलाड़ियों को इस स्थिति में यहां आने की मंजूरी देंगे। एक अधिकारी ने कहा कि यह भी मुद्दा है जिसे चर्चा के दौरान ध्यान में रखा जाएगा। आपको बता दें कि अभी सभी बोर्ड चाहते हैं कि आईपीएल हो, लेकिन आप नहीं जानते कि महीने के आखिरी में क्या फैसला लिया जाना है। यह इस पर निर्भर है कि क्या अंत में स्थिति में कोई हैरान करने वाला बदलाव आएगा। भारतीय सरकार ने 11 मार्च को कोरोनावायरस के कारण कुछ अधिकारियों को छोड़कर विदेशी लोगों के सभी वीजा रद्द कर दिए थे।