रूस की स्टार मारिया शारापोवा ने 32 साल की उम्र में टेनिस को कहा अलविदा, लिखा इमोशनल मैसेज

उन्होंने हर साल 2003 से 2015 तक कम से कम एक सिंगल्स टाइटल जीतने का रिकॉर्ड बनाया है। ऐसा रिकॉर्ड सिर्फ स्टेफी ग्राफ, मार्टिना नवारातिलोवा और किर्स एवर्ट के नाम दर्ज है।

0
107

नई दिल्ली: पांच बार की ग्रैंड स्लेम चैंपियन मारिया शारापोवा ने प्रोफेशन टेनिस से सन्यास लेने का ऐलान कर दिया है। मारिया ने 32 साल की उम्र में ये फैसला लिया है। अपने टेनिस से सन्यास लेने के साथ ही उन्होंने अपने सोशल मीडिया पर अपने बचपन की फोटो पोस्ट करते हुए एक इमोशनल संदेश भी लिखा है। अपने संन्यास का ऐलान करते हुए उन्होंने कहा, “अब तुम टेनिस के बिना कैसे जीवन जिओगी, जबकि अब तक आपको टेनिस के लिए ही जाना जाता था। जब तुम एक छोटी बच्ची थी, तब से तुम टेनिस कोर्ट पर रही हो। टेनिस ने ही तुम्हें बेपनाह खुशियां और आंसू दिए। एक ऐसा खेल जिसमें तुम्हें पूरा परिवार मिला। बेपनाह फैन्स मिले। तुम अपने पीछे 28 साल का करियर छोड़कर जा रही हो। मैं इसके लिए नई हूं तो कृपया मुझे क्षमा करें।”

वहीं दूसरी तरफ ‘वोग और वैनिटी फेयर’ मैग्जीन में मारिया ने लिखा, टेनिस- अब मैं तुम्हें गुडबॉय कहती हूं। आपको बता दे कि 17 साल के उम्र में मारिया शारापोवा रातोंरात स्टार बन गई थी, जब उन्होंने 2004 में विंबलडन चैंपियन बनी थीं। मारिया शारापोवा ने 2008 में 20 वर्ष की उम्र में ऑस्ट्रेलियाई ओपन का खिताब जीता और फिर उसके बाद उन्होंने 2012 और 2014 में फ्रेंच ओपन का खिताब जीता है। मारिया शारापोवा मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को नहीं जानने वाले बयान को लेकर भी काफी सुर्खियों में रही थीं। उस वक्त उनकी काफी आलोचना भी हुई थी। मारिया शारापोवा 2005 और 2008 में सबसे अधिक बार सर्च की जाने वाली स्पोर्ट्स पर्सेनिलिटी रहीं थीं।

अपने करियर में मारिया शारापोवा कईबार लगातार चोटों से जूझती रही हैं। आपको बता दें कि उन्होंने हर साल 2003 से 2015 तक कम से कम एक सिंगल्स टाइटल जीतने का रिकॉर्ड बनाया है। ऐसा रिकॉर्ड सिर्फ स्टेफी ग्राफ, मार्टिना नवारातिलोवा और किर्स एवर्ट के नाम दर्ज है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here