टीम ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में बापू नादकर्णी के सम्मान में काली पट्टी बांधकर उतरी भारतीय टीम

नादकर्णी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ ही टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था और खास बात तो ये है कि उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ ही अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था।

0
122

बेंगलुरु: रविवार को टीम ऑस्ट्रेलिया की बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले जा रहे तीसरे और निर्णायक वनडे मैच में अपने बाजूओं पर काली पट्टी बांधकर मैच खेलने के लिए भारतीय टीम मैदान में उतरी। भारतीय टीम का ये सम्मान था जाने माने टेस्ट ऑलराउंडर रमेशचंद्र गंगाराम बापू नादकर्णी के लिये। उनका शुक्रवार को निधन हो गया था। आपको बता दें कि बापू नादकर्णी बाएं हाथ के बल्लेबाज और बाएं हाथ के स्पिनर थे। उन्होंने 1955 से लेकर 1968 तक भारत के लिए 41 टेस्ट मैच खेले थे, जिसमें उन्होंने 1414 रन बनाने के अलावा 88 विकेट भी हासिल किए थे।

उन्होंने एक टेस्ट मैच में लगातार 21 मेडन ओवर डालने का रिकॉर्ड अपने नाम किया था। बापू नादकर्णी ने 1964 में इंग्लैंड के खिलाफ चेन्नई में खेले गए टेस्ट मैच में लगातार 21 मेडन ओवर गेंदबाजी की थी। नादकर्णी ने न्यूजीलैंड के खिलाफ ही टेस्ट क्रिकेट में कदम रखा था और खास बात तो ये है कि उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ ही अपना आखिरी टेस्ट मैच खेला था। नादकर्णी ने अपने टेस्ट करियर में 9165 गेंदें फेंकी, जिसमें उन्होंने केवल 2559 रन ही खर्च किए थे। उन्ही के सम्मान में पूरी भारतीय टीम अपने हाथ में काला पट्टी लगाकर मैदान में उतरी।