हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख का मुआवजा देगी दिल्ली सरकार

दिल्ली में फैली इस हिंसा में अबतक कम से कम 35 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है जबकि करीब 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।

0
47
Photo: ANI

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून को लेकर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में फैली हिंसा में मारे गए लोगों के परिजनों को 10-10 लाख का मुआवज़ा देने का ऐलान दिल्ली सरकार ने किया है। ये ऐलान खुद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में किया। 10-10 लाख रुपये के मुआवजे के साथ साथ हिंसा में प्रभावित लोगों के ईलाज का खर्च भी दिल्ली सरकार उठाएगी, इसका ऐलान भी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हिंसा में हिंदू और मुसलमान सबको नुकसान हुआ है। साथ में उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी कि अस्पताल में घायलों का इलाज मुफ्त में किया जा रहा है। घायलों पर फरिश्ते योजना लागू होगी।

इस दौरान अरविंद केजरीवाल ने मृतकों के परिवार को 10 लाख-10 लाख मुआवजा देने का भी ऐलान किया। नाबालिग की मौत पर परिजनों को 5-5 लाख रुपये दिया जाएगा। सीएम केजरीवाल ने आगे कहा कि मामूली रूप से घायलों को 20-20 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। साथ ही अरविंद केजरीवाल ने ये भी ऐलान किया कि हिंसा में जिनके रिक्शे को नुकसान हुआ उन्हें 25 हजार, ई रिक्शा के लिए 50 हजार, जिनका घर जला है उन्हें 5 लाख दिया जाएगा। इसके अलावा दुकान जलने पर 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

साथ ही सीएम केजरीवाल ने इस बात का भी ऐलान किया है कि जिनके पशु जल गये उन्हें पांच हजार प्रति पशु दिया जाएगा। जिनके आधार कार्ड, वोटर कार्ड जले हैं उनके नए दस्तावेज बनाए जाएंगे। इसके लिए कैंप लगाए जाएंगे। सीएम ने कहा कि सरकार दंगा पीड़ितों को फ्री में खाना पहुंचाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मुताबिक दंगा प्रभावित लोगों के लिए दिल्ली सरकार हेल्पलाइन नंबर जारी करने जा रही है। साथ ही साथ मोहल्लों में शांति और अमन कमेटियां सक्रिय होंगी। आपको बता दें कि दिल्ली में फैली इस हिंसा में अबतक कम से कम 35 लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है जबकि करीब 200 से ज्यादा लोग घायल हो गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here