रेलवे के बाद अब मेट्रो ट्रेन चलाने की तैयारी में है दिल्ली मेट्रो, जल्द हो सकती है घोषणा

लवे से सफर करने वालों की तरह ही मेट्रो में यात्रा करने वालों के मोबाइल में आरोग्य सेतू एप्प का होना अनिवार्य होगा और इसके साथ साथ हर यात्री को मास्क लगाना भी जरूरी होगा। बिना इसके मेट्रो परिसर में प्रवेश की इजाजत नहीं होगी।

0
109

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण के बाद हुए लॉकडाउन के कारण केन्द्र सरकार ने ऐहतियातन सभी पब्लिक ट्रांस्पोर्ट को बंद कर दिया था। इसके बाद लोगों को अच्छे खासे परेशानी का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन फिर करीब एक महीने के ज्यादा समय के बाद केन्द्र सरकार ने ट्रेन चलाने के फैसला किया और अब इसी बीच दिल्ली मेट्रो भी मेट्रो ट्रेन के परिचालन को बहाल करने का मन बना रही है। हालांकि इसको लेकर दिल्ली मेट्रो काफी पहले से ही तैयारी भी कर रही है। दिल्ली मेट्रो ने ऐसा संकेत दिया है कि जल्द ही वो मेट्रो सेवा बहाल कर सकती है। हालांकि दिल्ली मेट्रो के कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने कहा कि दिल्ली मेट्रो रेल सेवा चलाने के लिए अभी आदेश नहीं दिए गए हैं। हालांकि मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली मेट्रो में लॉकडाउन के बाद परिचालन के लिए तेजी से काम शुरू हो गया है।

कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल के मुताबिक लॉकडाउन के बीच दिल्ली मेट्रो के 264 स्टेशन,  2200 मेट्रो कोच, 1100 स्वचालित सीढ़ियां और 1000 सीढ़ियों में सफाई का काम हो चुका है। जानकारों का कहना है कि लॉकडाउन के बाद यात्रियों को मेट्रो में यात्रा करने के लिए बिलकुल नए तरीके से नियमों का पालन करना होगा। मेट्रो ट्रेन के अंदर यात्रा अब पहले जैसी नहीं रह जाएगी। आपको ये भी बता दें कि मेट्रो के बाहर और अंदर दोनो ही जगह सोशल डिस्टेंस के मानक तय किए जा रहे हैं। मेट्रो के भीतर बैठने में भी दूरी का ध्यान रखना होगा। दिल्ली मेट्रो की सभी ट्रेनों की सीटों में नए स्टीकर लगाए जा रहे हैं ताकि दो बैठने वालों के बीच फासला बना रहे। इसके अलावा मेट्रो में पहले की अपेक्षा 50 फीसदी कम लोग ही यात्रा कर सकेंगे।

रेलवे से सफर करने वालों की तरह ही मेट्रो में यात्रा करने वालों के मोबाइल में आरोग्य सेतू एप्प का होना अनिवार्य होगा और इसके साथ साथ हर यात्री को मास्क लगाना भी जरूरी होगा। बिना इसके मेट्रो परिसर में प्रवेश की इजाजत नहीं होगी।