नई दिल्ली: चीन में कोरोना वायरस का कहर  बदस्तूर जारी है। इस नए तरह के घातक कोरोना वायरस ने अब तक चीन में 25 लोगों की जान ले ली है और करीब 830 नए मामले सामने आए हैं। कोरोना वायरस के इस खतरनाक प्रकोप को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ ने चीन में इमरजेंसी की घोषणा कर दी है लेकिनभी अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति की घोषणा नहीं की है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि इस वायरस को वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल घोषित करना जल्द बाजी होगी।

चीन के नेशनल हेल्थ कमिशन के मुताबिक, कोरोना वायरस के अब तक 830 मामले सामने आए हैं, जिसकी पुष्टि भी हो चुकी है। गुरुवार तक इस कहर से मरने वालों की संख्या 25 हो गई है। इनमें से ज्यादातर मामले चीन के वुहान शहर में पाए गए हैं। बता दें कि कोराना वायरस के कम से कम सात अन्य देशों में गैर-घातक मामले पाए गए हैं। चीन में घातक कोरोना वायरस के प्रसार के कारण कई शहरों में आवाजाही पूरी तरह रोक दी गयी है। कुछ शहरों मसलन वुहान को पूरी तरह सील कर दी गई है। अगले आदेश तक इस शहर में पूरी तरह से आवाजाही पर रोक लगा दी गई है।

डब्ल्यूएचओ के प्रमुख टेडरोस एडहानोम घेब्रेयासस ने विषाणु को लेकर जिनेवा में दो दिवसीय आपात बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘मैं आज अंतरराष्ट्रीय सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति नहीं घोषित कर रहा हूं। उन्होंने कहा, ‘चीन में यह आपात स्थिति की तरह है, लेकिन यह वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल नहीं बना है।’ उन्होंने यह भी कहा कि चीन के बाहर इंसानों के बीच वायरस के फैलने का कोई ”प्रमाण नहीं मिला है।

आपको बता दें कि चीन में कोरोना वायरस से अब तक 25 लोगों की मौत हो गई है और 800 अधिक लोग इस वायरस की जद में आ गए है। यह वायरस कई अन्य देशों में फ़ैल गया है जिसको ध्यान में रखते हुए कई देशों से चीन की यात्रा के लिए अपने-अपने देश के नागरिकों को अलर्ट जारी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here