कश्मीर मुद्दे पर भारत दौरे से ठीक पहले जिनपिंग का यू-टर्न, कहा- UN चार्टर के मुताबिक सुलझे मसला

चीन ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर का मसला पुराने इतिहास का एक विवाद है, जिसे शांतिपूर्ण तरीके से संयुक्त राष्ट्र चार्टर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के नियमों के हिसाब से सुलझाना चाहिए।

0
82

नई दिल्ली: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के भारत दौरे से ठीक पहले चीन ने जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर बड़ा यू-टर्न ले लिया है। अपनी पहले कही बात से पलटते हुए चीन का कहना है कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर वह नजर बनाए हुए है और भारत-पाकिस्तान को इस मसले को संयुक्त राष्ट्र चार्टर के हिसाब से सुलझाना चाहिए। लेकिन दो दिन पहले जो चीन का बयान था वो इस बयान से बिल्कुल उलट था। पहले चीन से इसे भारत-पाकिस्तान के बीच का मसला कहा था, जिस पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान अपने चीन दौरे के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और चीनी प्रीमियर से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से जम्मू-कश्मीर के मसले पर एक साझा बयान जारी किया गया। ये बयान उस वक्त आया है जब 11 अक्टूबर को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग महाबलीपुरम में पहुंच रहे हैं, जहां पर उन्हें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ इन्फॉर्मल बैठक में हिस्सा लेना है।

चीन ने अपने इस बयान में कहा कि पाकिस्तान की ओर से उसे जम्मू-कश्मीर के ताजा हालात के बारे में जिक्र किया है। चीन ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर का मसला पुराने इतिहास का एक विवाद है, जिसे शांतिपूर्ण तरीके से संयुक्त राष्ट्र चार्टर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) के नियमों के हिसाब से सुलझाना चाहिए। चीनी विदेश मंत्रालय के मुताबिक, वह इस मसले पर नज़र बनाए हुए है और उम्मीद करता है कि दोनों देश आपस में बात कर इसपर आगे बढ़ेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here