चीन की कश्मीर पर टिप्पणी को लेकर भारत ने जताई कड़ी आपत्ति, कहा – हमारे आंतरिक मामलों पर अन्य देश टिप्पणी ना करे

जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को भारत सरकार द्वारा पांच अगस्त को रद्द करने के बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव बढ़ने के बीच इमरान ने चीन यात्रा की है।

0
94

नई दिल्ली: चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के कश्मीर मुद्दे पर चर्चा पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर भारत ने कहा, “इस मुद्दे पर नई दिल्ली के रुख से बीजिंग अच्छी तरह से अवगत है।” विदेश मंत्रालय ने कहा है कि हमारे आंतरिक मामलों पर अन्य देश टिप्पणी नहीं करे। भारत की ये कड़ी प्रतिक्रिया शी और इमरान खान के बीच एक बैठक में कश्मीर पर चर्चा होने के बारे में चीनी सरकारी मीडिया में खबर आने के बाद आई है। खबर के मुताबिक बैठक में शी चिनफिंग ने इमरान खान से कहा कि कश्मीर में स्थिति की चीन निगरानी कर रहा है और उसने आशा जताई कि ‘संबद्ध पक्ष’ शांतिपूर्ण वार्ता के जरिये मुद्दे का हल कर सकते हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा, ‘हमने शी की खान के साथ बैठक के बारे में खबर देखी है, जिसमें कश्मीर पर उनके बीच हुई चर्चा का भी जिक्र किया गया है। भारत का लगातार और स्पष्ट रुख रहा है कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। चीन हमारे रुख से अच्छी तरह से अवगत है। भारत के आंतरिक मामलों पर अन्य देश टिप्पणी नहीं करें।’ शी का शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक होने का कार्यक्रम है।

रिपोर्ट के मुताबिक चीनी राष्ट्रपति ने इमरान खान को एक बैठक के दौरान भरोसा दिलाया कि अंतरराष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय हालात में बदलावों के बावजूद चीन और पाकिस्तान के बीच मित्रता अटूट तथा चट्टान की तरह मजबूत है। जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को भारत सरकार द्वारा पांच अगस्त को रद्द करने के बाद पाकिस्तान और भारत के बीच तनाव बढ़ने के बीच इमरान ने चीन यात्रा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here