ब्रिटेन की कोर्ट से पाकिस्तान को झटका, फैसला सुनाते हुए कहा – हैदराबाद के निजाम की संपत्ति पर भारत का हक़

नवाब मोईन जंग ने ब्रिटेन में पाकिस्तान के उच्चायुक्त हबीब इब्राहम रहिमतुल्ला के खाते में जमा कराई गई थी, जो अब बढ़कर करीब 306 करोड़ हो गई है।

0
33

नई दिल्ली: हैदराबाद के निज़ाम के खज़ाने पर हक़ किसका होगा, इसपर से अब पर्दा उठा चुका है। पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान को यहां भी मुंह की खानी पड़ी है। इंग्लैंड एंड वेल्स हाईकोर्ट ने इस मुद्दे पर पाकिस्तान को एक बड़ा झटका देते हुए हैदराबाद के खजाने पर पाकिस्तान के दावे को ख़ारिज कर दिया है। हाईकोर्ट ने भारत के पक्ष में फैसला सुनाते हुए कहा है कि 306 अरब की संपत्ति पर सिर्फ और सिर्फ भारत का हक़ है। फिलहाल ये पैसा अभी लंदन के वेस्ट मिनिंस्टर बैंक में जमा है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी।

7th Nizam of Hydrabad (FILE Photo)

विदेश मंत्रालय ने इसकी जानकारी देते हुए कहा है कि हाईकोर्ट ने पाकिस्तान के उस दावे तो खारिज कर दिया है जिसमें पाकिस्तान ने इस बात का दावा किया था कि ये रकम आर्म शिपमेंट के लिए और साथ ही साथ उपहार के तौर पर दिया गया था। जो साल 1948 में लंदन में पाकिस्तानी उच्चायुक्त के खाते में भेजा गया था। आपको ये बता दें कि ये मामला दोनों देशों के बीच हैदराबाद के सांतवे निजाम मीर उस्मान अली खान सिद्दकी से जुड़ा और 17 अगस्त 1948 से पहले हैदराबाद के रियासत का भारत में विलय से जुड़ा हुआ है। आपको बता दें कि एक सैन्य अभियान जिसका नाम ऑपरेशन पोलो था, उसके तहत ही हैदराबाद रियासत को भारत में विलय किया गया था।

मिली जानकारी के मुताबिक इस दौरान नवाब मोईन जंग ने ब्रिटेन में पाकिस्तान के उच्चायुक्त हबीब इब्राहम रहिमतुल्ला के खाते में जमा कराई गई थी, जो अब बढ़कर करीब 306 करोड़ हो गई है। पहले ये मामला हाउस ऑफ लॉर्डस में पहुंचा था, जहां कोर्ट ने इस रकम को फ्रिज़ कर दिया था। फिर बाद में दोबारा ये मामला हाईकोर्ट पहुंचा, जहां इस मामले में फैसला भारत के पक्ष में सुनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here